IMA के देशव्यापी हड़ताल का बिहार में दिख रहा व्यापक असर, मरीज बेहाल परिजन परेशान

IMA के देशव्यापी हड़ताल का बिहार में दिख रहा व्यापक असर, मरीज बेहाल परिजन परेशान

NEWS4NATION DESK : आइएमए के देशव्यापी हड़ताल में बिहार के डॉक्टर्स भी शामिल है। डॉक्टरों के इस हड़ताल का प्रदेश की चिकित्सा व्यवस्था पर व्यापक असर दिख रहा है। सच कहा जाए तो स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। मरीज और उनके परिजन बेहाल-परेशान इधर-उधर भटक रहे हैं। 

सूबे के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच में हड़ताल का व्यापक असर देखने को मिल रहा है। सभी विभागों का ओपीडी ठप है। सुबह से ही रजिस्ट्रेशन काउंटर और ओपीडी के बाहर मरीजों की भीड़ लगी है और मरीज कतारों में लगकर डॉक्टरों का इंतजार कर रहे हैं।

कुछ ऐसा ही हाल पटना के आईजीआईएमएस और एम्स का है। जहां ओपीडी सेवा पूरी तरह से ठप है। ओपीडी में इलाज कराने पहुंचे मरीज और उनके परिजन परेशान है।
 
वही सबसे भयावह स्थिति मुजफ्फरपुर के सबसे बड़े अस्पताल एसकेएमसीएच की हो गई है। यहां डॉक्टरों के हड़ताल पर चले जाने से विकट समस्या खड़ी हो गई है। SKMCH में ओपीडी काउंटर पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। दूर-दराज से आये मरीजों और परिजनो को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। एक तरफ जहां बच्चों की एईएस से लगातार मौत हो रही है वहीं डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने से मरीजों के प्रति उनकी संवेदना को लेकर गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं।

बता दें कि कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में एक मरीज की मृत्यु के बाद उसके परिजनों ने दो डाक्टरों के साथ मारपीट की थी। डॉक्टरों के साथ हुई मारपीट के बाद से पश्चिम बंगाल में डाक्टर हड़ताल पर हैं। वहीं उनके समर्थन में पूरे देश के जूनियर डॉक्टर सामने आ गय़े है। वहीं आईएमए भी उनके हड़ताल का समर्थन कर रहा है। उसी कड़ी में आज ये हड़ताल किया गया है।  

Find Us on Facebook

Trending News