पुलिस में जितनी महिलाएं हमारे यहां, अन्य राज्यों में नहीं : नीतीश कुमार

पुलिस में जितनी महिलाएं हमारे यहां, अन्य राज्यों में नहीं : नीतीश कुमार

पटना... सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इमामगंज में चुनावी रैली को संबोधित किया। जीतन राम मांझी के पक्ष में रैली को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने राज्य की महिलाओं पर खासी रूची दिखाई। राज्य की ओर से महिलाओं और छात्राओं के लिए चलाई जा रही योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया और कहा कि अगर हम फिर से मौका मिला तो हम महिलाओं की जीवन को और भी बेहतर बनाएंगे। उन्होंने उदाहरण के तौरे पर बताया कि पुलिस में जितनी महिलाएं हमारे यहां हैं, अन्य राज्यों में नहीं है। इतना ही नहीं छात्राओं के लिए चलाई जा रही योजनाओं में और भी इजाफा करेंगे। 

नीतीश कुमार ने कहा कि हमने जब साइकिल योजना की शुरूआत की थी, तब कई लोगों ने कहा कि लड़किया अगर साइकिल चढ़ेंगी तो हमारी बेइज्जती होगी, लेकिन हमने फिर भी योजना शुरू की और स्कूलों में छात्रओं की संख्या बढ़ने लगी और अब तो ऐसा समय आ गया है कि बोर्ड की परीक्षाओं में छात्रों से ज्यादा छात्राओं की संख्या होने लगी है। 

योजनाओं के बारे में विस्तार से कहा

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हमने राज्य में वल्र्ड बैंक से कर्ज लेकर जीविका योजना बनाई। स्थिति यह है कि जब हम गया गए तो हमने खुद स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को देखा कि जो महिलाएं पढ़ी-लिखी नहीं हैं वो भी वो भी बैंकों के बारे में जानकारी रखती हैं। उन्होंने कहा कि युवाओं को आगे बढ़ाने के लिए काम किया है। क्रेडिट कार्ड योजना, कुशल युवा कार्यक्रम, हर जिले में इंजीनियरिंग काॅलेज और जिले को नई टेक्नाॅलोजी से जोड़ने का काम किया। राज्य में सात निश्चय पर तेजी से काम किया। हर घर नल का जल योजना को घर-घर तक पहुंचाया। अब आगे भी इसे बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि मौका मिला तो हर खेत मेें पानी पहुंचाएंगे। 

छात्राओं को मिलेगी अधिक राशि

सीएम नीतीश ने कहा कि पहले छात्राओं को स्कूल या काॅलेजों में को भी प्रोत्साहन राशि नहीं मिलती थी, लेकिन अब इंटर पास करने पर 10 और ग्रेजुएशन करने पर 25 हजार की राशि मिलती है। लेकिन अब इंटर पास करने पर 25 हजार और ग्रेजुएशन करने पर 50 हजार की राशि मिलेगी। वहीं गांवों में जानवरों के लिए 8 से 10 पंचायत के बीच पशु चिकित्सालय का प्रावधान करेंगे। 

 वृद्धों के लिए चलाएंगे योजना

जिन वृद्धों को घर में नहीं रहने दिया जाता है, उनके लिए हम आवासीय योजना की शुरूआत करेंगे। इतना ही नहीं शहरों में भी गरीबों के लिए बहुमंजिला इमारत बनाएंगे। 

राज्य में कानून राज कायम किया

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2005 से राज्य में जंगलराज था, लेकिन अब राज्य में कानून का राज है। केंद्र से प्रकाशित होने वाले आंकड़े बताते हैं कि राज्य में कितना अपराध कम हुआ है। पहले कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ा दी जाती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं है। 


Find Us on Facebook

Trending News