सुपौल में मामूली विवाद में शराब कारोबारियों ने वृद्ध की पीट-पीटकर की हत्या, गुस्साए ग्रामीणों ने किया सड़क जाम

सुपौल में मामूली विवाद में शराब कारोबारियों ने वृद्ध की पीट-पीटकर की हत्या, गुस्साए ग्रामीणों ने किया सड़क जाम

सुपौल. जिले के बलुआ थाना क्षेत्र के बिशनपुर शिवराम वार्ड 6 में शनिवार की देर शाम दरवाजे के आगे शराबियों को बाइक हटाने के लिए कहना एक अधेड़ व्यक्ति को महंगा पड़ गया। शराब माफियाओं ने वृद्ध को इतनी बुरी तरह से पीटा कि अस्पताल ले जाते ही उन्होंने दम तोड़ दिया। इसके बाद घटना से आक्रोशित परिजनों ने मृतक के शव को एसएच 91 पर रखकर आरोपी की गिरफ्तारी की मांग को लेकर सड़क जाम कर दिया। इसकी सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को समझाकर करीब दो घंटे बाद जाम खुलवाया।

वहीं मामले को लेकर मृतक के पुत्र ने थाने में आवेदन देकर पांच लोगों को आरोपी बनाया है। बलुआ पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए दो आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया है और अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। थाने में दिये आवेदन में मृतक के पुत्र अजय कुमार साह ने बताया कि बीते देर शाम मेरे पिता ज्योतिष प्रसाद साह बलुआ बाजार से सब्जी बेचकर घर लौटे तो देखा कि दरवाजे पर गाड़ियों का जमावड़ा लगा हुआ है। घर जाने का रास्ता अवरुद्ध है। इसके बाद वो गाड़ी हटाने को लेकर आवाज लगाने लगा। इस पर बाइक वाले अपनी अपनी बाइक लेकर निकल गये।

उन्होंने कहा कि उसके कुछ देर बाद शराब बेच रहे अरुण कुमार साह और सुनील कुमार साह मौके पर पहुंचकर उनके पिताजी के साथ गाली गलौज करने लगे। इसका विरोध करने पर उन लोगों ने मेरे 60 वर्षीय पिता को बहुत ही बुरी तरह से पीटा। इससे वे अचेत होकर वहीं गिर पड़े। उन्होंने बताया कि जब वह अपने पिताजी को बीच बचाव करने पहुंचे तो आरोपियों ने उनके साथ भी मारपीट करने लगा। उन्होंने बताय कि बाद हो हल्ला सुनकर आसपास के ग्रामीण भी जमा हो गए। ग्रामीणों को आते देखकर आरोपी वहां से भाग गया। साथ ही जाते-जाते धमकी भी दे गया कि कि जिसके पास जाना है, जाओ कोई मेरा कुछ नहीं कर सकता है। उसके बाद आनन-फानन में ग्रामीणों के सहयोग से घायल पीता को वीरपुर हॉस्पिटल लाये, जाहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। उन्होंने बताया कि शराबियों के द्वारा उनके दरवाजे के सामने बाइक खड़ी कर उनके घर के सामने ही अरुण साह के यहां शराब पीने चला जाता है।

उन्होंने बताया कि आरोपी पिछले कई वर्षों से शराब का अवैध कारोबार कर रहा है। इसको लकेर आरोपी पर बलुआ थाना में मामला भी दर्ज है। आरोपी अरुण साह, सुनील साह शराब मामले में कई बार जेल भी जा चुका है। कारोबारियों का घर उनके घर के सामने होने के कारण आए दिन मृतक के दरवाजे पर लोग अपनी वाहन खड़ा कर शराब खरीदकर ले जाते थे। यही नहीं लोग खुलेआम उसके घर के आसपास शराब भी पिया करते हैं। इस बीच कुछ दिन पूर्व ही सुनील कुमार साह, अरुण कुमार साह जेल से छूट कर आया था। हलाकि, बलुआ पुलिस शव को कब्जे में लकेर पोस्टमार्टम में भेजकर जांच में जुट गई है। वहीं पोस्टमार्टम से शव घर आते ही मृतक के परिजनों के चीख पुकार से माहौल गमगीन हो गया। साथ ही मृतक के पत्नी और मनोज साह, अरुण साह का रो-रोकर बुरा हाल था।

घटना के बाद ग्रामीणों ने आक्रोशित होकर स्थानीय पुलिस को आड़े हाथ लिया और पुलिस कि कार्यशैली पर जमकर सवाल उठाया। ग्रामीणों का कहना है कि आरोपी पक्ष लंबे समय से शराब का कारोबारी करता है। इसके संबंध में पुलिस को कई बार शिकायत की गयी है। इसके बावजूद पुलिस अनदेखी कर रही है। इसके कारण आरोपियों का मन सातंवे आसमान पर है। यही कारण है कि कानूनी कार्रवाई के खौफ को दरकिनार कर आरोपियों ने घटना को अंजाम दिया है। सूत्रों की माने तो इन दिनों बिशनपुर चौक सहित बिशनपुर गांव में कुछ लोग शराब व गांजा के तस्करी से जुड़े हुए हैं। वहीं तस्करों के द्वारा कमाई का एक मोटा हिस्सा स्थानीय थाना को भी दी जाती है। इस कारण बिशनपुर चौक व गांव में कुछ लोग कानून को ठेंगा दिखाते हुए खुलेआम शराब व गांजा का अवैध कारोबार करते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News