बिहार के गया, औरंगाबाद, नवादा और जमुई सीट पर डाले जा रहे है वोट, इन चार की प्रतिष्ठा है दांव पर

बिहार के गया, औरंगाबाद, नवादा और जमुई सीट पर डाले जा रहे है वोट, इन  चार की प्रतिष्ठा है दांव पर

PATNA : पहले चरण के चुनाव में आज बिहार की चार सीटों भगवान बुद्ध की भूमि गया, महावीर की जन्मभूमि जमुई, बिहार का मिनी चित्तौड़गढ़ कहा जाने वाला औरंगाबाद और झारखंड से सटे नवादा लोकसभा क्षेत्र वोट डाले जा रहे हैं। ये चारों सीटें फिलहाल एनडीए के कब्जे में हैं, लेकिन इस बार मुकाबला कड़ा माना जा रहा है।

गया में महागठबंधन से पूर्व सीएम व हम के अध्यक्ष जीतनराम मांझी, जमुई से एनडीए के प्रत्याशी व लोजपा सांसद चिराग पासवान, औरंगाबाद से बीजेपी के सांसद सुशील कुमार सिंह के साथ नवादा से आरजेडी के सजायाफ्ता बाहुबली नेता राजबल्लभ यादव की पत्नी विभा देवी महागठबंधन से मैदान में है। इस चुनाव में इन चार प्रत्याशियों की प्रतिष्ठा दांव पर है और सबकी नजरें इनपर टिकी हैं।

तीसरे बार, तीसरे दल से पूर्व सीएम अजमा रहें हैं अपना भाग्य

गया लोकसभा सीट 1967 से अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित और इस सीट पर तीसरे दल से तीसरी बार जीतनराम मांझी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। पिछली बार ये जेडीयू के उम्मीदवार थे और तीसरे स्थान पर रहे थे। गया में जीतन राम मांझी का मुकाबला जेडीयू के विजय मांझी से हैं। पहली बार लोकसभा चुनाव मैदान में उतरे विजय विजय मांझी पूर्व सांसद स्वर्गीय भगवती देवी के पुत्र हैं। वहीं इनकी बहन समता देवी बाराचट्टी से आरजेडी की विधायक हैं। गया में वैसे तो कुल 13 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं, लेकिन मुख्य मुकाबला जीतन राम मांझी और विजय मांझी के बीच है। बता दें कि वर्तमान में यह सीट एनडीए के बीजेपी के खाते में है। यहां से बीजेपी के हरि मांझी सांसद है लेकिन इसबार यह सीट जेडीयू के खाते में है।

औरंगाबाद में BJP के लिए हैट्रिक की चुनौती

 2009 से लगातार औरंगाबाद सीट बीजेपी के खाते में है। एनडीए व बीजेपी के वर्तमान सांसद सुशील कुमार सिंह लगातार तीसरी बार हैट्रिक लगाने को लेकर चुनाव मैदान में है। बिहार का चितौड़गढ़ कहा जाने वाला यह सीट वैसे तो कांग्रेस का परंपरागत सीट माना जाता है, लेकिन इसबार महागठबंधन ने यह सीट रालोसपा के खाते में डाला है। उपेन्द्र इस सीट से सुशील कुमार सिंह को टक्कर देने के लिए चुनाव मैदान में है।  

दो बाहुबलियों के बीच है सीधा मुकाबला

नवादा लोकसभा सीट पर सीधा मुकाबला एनडीए और महागठबंधन के बीच है। कहने को तो यहां एनडीए से एलजेपी के चंदन सिंह और महागठबंधन से आरजेडी की विभा देवी आमने-सामने हैं। लेकिन यहां मुकाबला दो बाहुबलियों सूरजभान सिंह और राजबल्लभ यादव के बीच है।   चंदन सिंह जहां लोजपा के पूर्व बाहुबली सांसद सूरजभान के छोटे भाई हैं, वहीं विभा देवी नवादा के बाहुबली व राजद के पूर्व विधायक राजबल्लभ यादव की पत्नी हैं। दोनों ही अपने-अपने कैडर वोट के बल पर एक दूसरे को चुनौती दे रहे हैं, लेकिन जिसने भी एक-दूसरे के वोटों में सेंधमारी की, जीत का सेहरा उसके ही सर बंधेगा।

मोदी लहर के भरोसे वर्तमान सांसद चिराग 

नवादा की तरह ही जमुई लोकसभा सीट पर एनडीए और महागठबंधन के बीच सीधी टक्कर है। यहां से वर्तमान लोजपा सांसद चिराग पासवान को जहां एकबार फिर मोदी लहर पर भरोसा है तो महागठबंधन के भूदेव चौधरी को अपने जातीय आधार और घटक दलों के आधार वोटों के भरोसे है।

 

 

Find Us on Facebook

Trending News