गया में डायन के आरोप में महिला को भीड़ ने जिन्दा जलाया, मौके पर पहुँची पुलिस पर किया हमला

गया में डायन के आरोप में महिला को भीड़ ने जिन्दा जलाया, मौके पर पहुँची पुलिस पर किया हमला

GAYA : ज़िला के डुमरिया प्रखंड के मैगरा थाना  के ग्राम पंचायत शेवरा के पंचवा गांव की 45 वर्षीय रीता देवी को ज़िंदा आग में डाल कर जला देने का मामला सामने आया है। उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बताया जा रहा है की गांव के ही चंद्रदेव भुइयाँ से करीब एक महीना से डायन ओझा का आरोप  लेकर विवाद था। जहाँ चंद्रदेव भुइयाँ के पुत्र की पूर्व में बीमारी मृत्यु हो गई थी। लेकिन चंद्रदेव भुइयाँ जागरूकता के अभाव में अंधविश्वास में आकर अपने बेटे की बीमारी की इलाज न कराकर ओझा के पास झाड़ फूक कराते रहे। जिसमें उनके पुत्र की मौत हो गयी। 

जिसके बाद चंद्रदेव भुइयाँ गांव की ही रीता देवी पति अर्जुन दास पर आरोप लगाते रहे। उसके परिवार के साथ मारपीट करते रहे। जिसके बाद मामला ग्राम पंचायत कचहरी में गया। जिसकी बैठक 5 नवंबर को रखी गई। जहां दोनों पक्ष से लोग जुटे और दोनों ओर से एक एक ओझा को लाया गया था। चंद्रदेव भुइयाँ पक्ष के ओझा ने चैलेंज किया था के रीता देवी डायन है। जिसे मैं पूरे समाज मे नंगा नचा दूँगा। इस तरह के ओझा के करिश्मा को देखने के लिए करीब एक गांव ही नहीं पूरे पंचायत की भीड़ इकठा हुई। जहां चंद्रदेव भुइयाँ के ओझा अपने चैलेंज से पीछे हटकर भागने लगे। 

जब ग्राम कचहरी में मौजूद पंचों ने देखा की माहौल खराब हो जाएगा। जिसके बाद मैगरा थाना को बुलाया। पुलिस को देख भीड़ कुछ समय के लिए शांत हो गयी। मृतिका रीता देवी के पति अर्जुन दास और उनके पुत्र ने बताया की सैकड़ों की संख्या में लाठी,डंडा,भाला तलवार लेकर भीड़ हमारे घर पर पहुँची,जहां मेरी पत्नी भीड़ देख घर को बंद कर लिया। जिसके बाद भीड़ ने मेरे घर के दरवाजे को तोड़ना शुरू कर दिया। घर की खिड़की तोड़ हमारे घर मे प्रवेश कर गए और मेरी पत्नी को लाठी डंडा से पीटते हुए,पैट्रोल छिड़ककर ज़िन्दा में ही आग लगा दिया। 

उन्होंने बताया के हमलोग दूर होकर सब तमाशा देखते रहे,जहाँ घटना के दौरान पुलिस पहुंची तो पुलिस गाड़ी पर भी हमला कर दिया। जिसमें पुलिस वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गई। उन्हों ने बताया के मेरे घर मे जो भी परिवार आए थे। उन सबको बुरी तरह पीटा है। सभी घायल हुए हैं। साथ ही पूरे घर के सामान में आग लगा दिया। घटना की जानकारी पाते ही इमामगंज डीएसपी पूरे दल बल के साथ घटना स्थल पर पहुँचे जहां रीता देवी को आग में जला देख उनके भी रोगटे खड़े हो गए। उन्होंने कहा के जो भी दोषी हैं उनके विरुद्ध त्वरित करवाई करते हुए गिरफ्तारी की जाएगी।  उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दिलाने का काम करेंगे। मौके पर मैगरा थाना,डुमरिया,थाना,भदवर थाना,छकरबंधा थाना,कोठी थाना समेत इमामगंज थाना की पुलिस एवं डुमरिया अंचलाधिकारी कौसर इमाम मौजूद थे। अन्धविश्वाश में महिला को ज़िंदा जला दिया गया। जिसे पुलिस भी नहीं बचा सकी।

गया से मनोज की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News