नवादा में आशा कार्यकर्ता ने नर्स बेटी के साथ मिलकर गर्भवती का किया ऑपरेशन, मौत होने पर मचा बवाल

नवादा में आशा कार्यकर्ता ने नर्स बेटी के साथ मिलकर गर्भवती का किया ऑपरेशन, मौत होने पर मचा बवाल

नवादा. जिले के पकरीबरावां थाना क्षेत्र के मोहनबीगहा स्थित एक निजी अस्पताल में ऑपरेशन के बाद एक महिला की मौत हो गई। इसके बाद परिजनों ने हंगामा किया और अस्पताल में तोड़फोड़ की। महिला की पहचान पकरीबरावां थाना क्षेत्र के करतारा गांव निवासी प्रभास यादव की 35 वर्षीय पत्नी क्रांति देवी के रूप में हुई है।

बताया जाता है कि प्रसव पीड़ा के बाद महिला को शुक्रवार शाम सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पकरीबरावां लाया गया था। सीएचसी द्वारा मरीज को नवादा सदर रेफर कर दिया गया था, लेकिन आशा कार्यकर्ता ने महिला के परिजन को बहला-फुसलाकर मोहनबीगहा अपने अवैध नीजी नर्सिंग होम में भर्ती करवा दिया। नर्स के साथ उसने  महिला का बड़ा ऑपरेशन कर दिया। ऑपरेशन के बाद नवजात तो बच गया, लेकिन महिला की हालत बिगड़ने लगी। शनिवार की सुबह इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई।

इसके बाद परिजनों ने आनन-फानन में उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पकरीबरावां लाया। यहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। प्रसूता की मौत के बाद स्वजनों एवं ग्रामीण अस्पताल पर पहुंचकर हंगामा करने लगे। अस्पताल में तोड़फोड़ की गयी। इस बीच मौका देखकर आशा कार्यकर्ता एवं उसकी नर्स बेटी अस्पताल छोड़कर फरार हो गई। पकरीबरावां में ऑपरेशन के बाद करतारा की महिला क्रांति देवी की मौत के बाद आक्रोशित स्वजनों एवं ग्रामीणों ने नवादा-जमुई पथ को जाम कर दिया। इससे नवादा-जमुई स्टेट हाईवे पर आवागमन बाधित हो गया। 

जाम की सूचना मिलते ही स्थानीय प्रशासन हरकत में आया। पकरीबरावां थानाध्यक्ष शिशुपाल दल-बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। स्वजनों एवं ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया गया, लेकिन मुआवजा एवं अस्पातल संचालक पर कार्रवाई की मांग पर अड़े रहे। करीब ढाई घंटे बाद नवादा-जमुई स्टेट हाईवे पर आवागमन बहाल हुआ। प्रखंड विकास पदाधिकारी ने मृतक के परिजन को परिवारिक लाभ योजना के तहत 20 हजार रुपये दिये। इसके बाद जाम को हटाया गया है।

Find Us on Facebook

Trending News