पटना में व्यवसायी की बेरहमी से गला काटकर हत्या, संपत्ति के लिए बेटी-दामाद ने घटना को दिया अंजाम

पटना में व्यवसायी की बेरहमी से गला काटकर हत्या, संपत्ति के लिए बेटी-दामाद ने घटना को दिया अंजाम

PATNA : राजधानी पटना से एक बड़ी खबर सामने आई है। जहां संपत्ति के लिए बेटी ने अपने पति के साथ मिलकर अपने पिता की हत्या कर दी है। मामले को लेकर बेटी-दामाद समेत चार लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया गया है। 

घटना के संबंध में बताया गया है कि परसाबाजार थाना क्षेत्र के खैराटाली गांव के जमुना बिहार में शनिवार को जूता-चप्पल के कारोबारी उमेश सिंह की हत्या कर दी गई। बताया जा रहा है कि उमेश सिंह की पहले हाथ-पैर बांधकर पिटाई की गई और फिर गला रेत कर मार डाला गया। हत्या का आरोप उनकी बड़ी बेटी पूजा, उसके पति देव कुमार समेत चार लोगों पर लगा है। इस मामले को लेकर मृतक उमेश के साढ़ू रणधीर कुमार सिंह ने एफआईआर दर्ज कराई है।

बताया जा रहा है कि घटना की जानकारी तब हुई, जब मृतक का भांजा शनिवार की दोपहर करीब डेढ़ बजे खैराटाली गांव के जमुना बिहार पहुंचा। वह जैसे ही अपने मामा के घर में घुसा तो देखा कि अंदर खून पसरा है और उसके मामा उमेश सिंह फर्श पर मृत पड़े है। जिसके बाद उसने इसकी जानकारी परिवारवालों को दी। सूचना मिलते ही परसा बाजार थानाध्यक्ष जयप्रकाश पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में ले लिया। 

बताया जाता है कि बड़ी बेटी व दामाद ने बेरहमी से उनकी पिटाई की। बाद में पेट में चाकू घोंप व गला रेतकर मार डाला। घटना को अंजाम देने के बाद दोनों फरार हो गए। साक्ष्य छुपाने के लिए दोनों ने हाथ में ग्लब्स पहनकर इस खूनी वारदात को अंजाम दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके पर पड़े खून से सने ग्लब्स और शव को कब्जे में ले लिया। 

परसा बाजार थानाध्यक्ष जयप्रकाश ने बताया कि उमेश सिंह की हत्या दामाद और बेटी द्वारा ही की गयी है। 20 दिन पहले उमेश ने मुखिया प्रतिनिधि रॉकी कुमार से कहा था कि मुझे मेरी बेटी और दामाद से डर है। दोनों मेरी हत्या कर सकते हैं। 

वहीं मुखिया प्रतिनिधि ने बताया कि उमेश की बड़ी बेटी ने एक साल पहले देव कुमार नामक युवक से प्रेम-विवाह की थी। उमेश ने मुझसे कहा था कि बेटी-दामाद 30 लाख रुपये मांग रहे हैं। चिरैयाटांड़ में बने मकान को अपने नाम कराना चाह रहा है। इसकी सूचना परसा बाजार थाने को दी गई थी लेकिन पुलिस नहीं चेती। लोगों के अनुसार 20 दिन पूर्व भी बेटी व दामाद 15 से 20 लड़कों को लेकर उमेश सिंह के घर पहुंचे थे। उमेश से मारपीट की थी। उस समय उमेश ने घर से भाग कर अपनी जान बचायी थी। 

Find Us on Facebook

Trending News