लेट हुए मंत्री तो मोबाइल की रोशनी में ही करनी पड़ी सभा, नक्सल प्रभावित क्षेत्र में बिहार के तीन मंत्रियों ने रात में लोगों को किया संबोधित

लेट हुए मंत्री तो मोबाइल की रोशनी में ही करनी पड़ी सभा, नक्सल प्रभावित क्षेत्र में बिहार के तीन मंत्रियों ने रात में लोगों को किया संबोधित

रोहतास. जिले के चेनारी में बिहार सरकार के तीन मंत्रियों ने मोबाइल की रोशनी में सभा की, जो चर्चा का विषय बना हुआ है। यह क्षेत्र नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में शामिल है। चेनारी के स्थानीय कांग्रेस विधायक तथा बिहार सरकार में पंचायती राज मंत्री मुरारी प्रसाद गौतम, पिछड़ा अति पिछड़ा कल्याण मंत्री अनीता देवी तथा अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री जमा खान ने मोबाइल की रोशनी में सभा को संबोधित किया।

दरअसल चेनारी के डाक बंगला मैदान में इन मंत्रियों के स्वागत के लिए अभिनंदन कार्यक्रम रखा गया था। चुकी कार्यक्रम का आयोजन शनिवार के दिन में ही थी, लेकिन लेटलतीफी के कारण विलंब हो गई और बारी-बारी से मंत्री गण देर शाम तक पहुंचे। सभा काफी देर तक चली, लेकिन कार्यक्रम स्थल पर प्रकाश की व्यवस्था नहीं की गई थी। ऐसे में मंच पर मौजूद नेतागण एवं मैदान में खड़े समर्थक मोबाइल की रोशनी जलाकर पूरे कार्यक्रम में शामिल हुए।

इस दौरान करगहर के कांग्रेस विधायक संतोष मिश्रा भी मंच पर देखे गए। सवाल उठता है कि बिहार सरकार के तीन तीन मंत्री नक्सल प्रभावित इलाके में रात के अंधेरे में मोबाइल की रोशनी के बीच किस प्रकार से सुरक्षा के तमाम मापदंडों को ताक पर रखकर सभा करते रहे? बता दें कि पूरा इलाका नक्सल प्रभावित रहा है और यह इलाका कैमूर पहाड़ी का तलहटी का क्षेत्र है।

इन दिनों पहाड़ी क्षेत्रों में नक्सल गतिविधि भी तेज हुई है। जिसको लेकर NIA की भी छापामारी हुई है। ऐसे विकट परिस्थिति में बिहार सरकार के तीन-तीन कबीना मंत्री अंधेरे में खुले मैदान में सभा करते रहे, जो सुरक्षा के तमाम मापदंडों के साथ खिलवाड़ है।


Find Us on Facebook

Trending News