बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

LATEST NEWS

BPSC से चयनित शिक्षकों की किस स्कूल में होगी पोस्टिंग ? KK पाठक ने 4 उप निदेशकों को दिया जिम्मा, शिक्षा विभाग के अधिकारियों - कर्मियोें की नहीं होगी कोई दखल

BPSC से चयनित शिक्षकों की किस स्कूल में होगी पोस्टिंग ? KK पाठक ने 4 उप निदेशकों को दिया जिम्मा, शिक्षा विभाग के अधिकारियों - कर्मियोें की नहीं होगी कोई दखल

पटना- बिहार लोक सेवा आयोग से चयनित एक लाख 20 हजार 336 शिक्षकों को स्कूल आवंटित करने में शिक्षा विभाग जुट गया है. इसको लेकर विभाग ने एक विशेष सॉफ्टवेयर विकसित किया है. इसी के माध्यम से शिक्षकों को स्कूल आवंटित किया जाएगा. दो नवंबर को औपबंधिक नियुक्तिपत्र दिये जाने के पहले स्कूलों का आवंटन हो जाए, शिक्षा विभाग इस प्रयास में लगा है.बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा चयनित शिक्षकों की पोस्टिंग को लेकर शिक्षा विभाग युद्ध स्तर पर लगा है. शिक्षकों की पोस्टिंग में जिला शिक्षा पदाधिकारी की मनमानी नहीं चलेगी, बल्कि मुख्यालय स्तर से ही होगा. शिक्षा विभाग के ACS केके पाठक ने व्यवस्था बनाया है कि शिक्षकों का विद्यालय आवंटन सॉफ्टवेयर के माध्यम से किया जाएगा. इसकी पूरी तैयारी कर ली गई है. 



शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार सॉफ्टवेयर में तमाम जानकारियां अपलोड की गई हैं. इसके आधार पर सॉफ्टवेयर ही शिक्षकों को अलग-अलग स्कूल आवंटित कर देगा. किस शिक्षक को कौन सा स्कूल आवंटित होगा, इसमें पदाधिकारियों व कर्मियों की कोई भूमिका नहीं रहेगी. सभी शिक्षकों को जिला आवंटित पहले ही कर दिया गया है.किस शिक्षक को किस जिले में योगदान करना है, यह पहले से तय है. उसी जिले में शिक्षकों की काउंसिलिंग हो रही है. पर, आवंटित जिले के किस प्रखंड के कौन से स्कूल में योगदान करना है, यह सॉफ्टवेयर ही तय करेगा.जानकारी के मुताबिक शिक्षकों की आवश्यकता वाले विद्यालयों में प्राथमिकता के आधार पर उनका पदस्थापन किया जाएगा. इधर, विभाग ने यह भी साफ किया है कि जिला स्तर पर नियुक्तिपत्र वितरण कार्यक्रम की अध्यक्षता सबंधित जिले के प्रभारी मंत्री करेंगे. बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा चयनित शिक्षकों का विद्यालय आवंटन साफ्टवेयर द्वारा किया जाना है. इस आलोक में शिक्षक रैंडमाइजेशन संबंधी जिलों से प्राप्त प्रस्ताव पर आगे की कार्यवाई किया जाना है. इसके आलोक में 4 उप-निदेशको को प्रोग्रामर के साथ प्रतिनियुक्त किया गया है.  अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने आदेश दिया है कि ये सभी इस कार्य को गंभीरतापूर्वक निष्पादित करेंगे. इस कार्य के लिए रवि शंकर सिंह, अपर राज्य परियोजना निदेशक, बिहार,शिक्षा परियोजना परिषद को नोडल पदाधिकारी नामित किया गया है.






 जिन 4 उप निदेशकों को प्रतिनियुक्त किया गया है उनमें संजय कुमार चौधरी, उप निदेशक, प्राथमिक शिक्षा,अब्दुस सलाम अंसारी, उप निदेशक, माध्यमिक शिक्षा, नीरज कुमार, उप निदेशक, प्राथमिक शिक्षा और अमर भूषण, उप निदेशक, माध्यमिक शिक्षा शामिल हैं. शिक्षा विभाग ने कहा है की ये सभी अधिकारी आदेश के आलोक में गंभीरतापूर्वक कर्त्तव्यों का निर्वहन करेंगे और प्रतिदिन प्रगति प्रतिवेदन से नोडल पदाधिकारी रवि शंकर सिंह को अवगत कराएंगे। केके पाठक के आदेश पर निदेशक प्रशासन ने पत्र जारी किया है.



बता दें विभाग की तैयारी है कि नये शिक्षकों से संबंधित हर जानकारी एक अलग सॉफ्टवेयर में दर्ज रहेगी. इतना ही नहीं शिक्षकों के शैक्षणिक प्रमाणपत्र, प्रामणपत्र की जांच से संबंधित जानकारी भी इसमें दर्ज की जाएगी. इसके बाद किसी भी शिक्षक से जुड़ी कोई भी नई बात, उसमें दर्ज होती जाएगी. 






Suggested News