ब्रह्मर्षि समाज के ‘मोलदियार वंश दर्पण’ का लोकार्पण, MLC नीरज ने कहा- इतिहास जानकर ही भविष्य की बनेगी रुपरेखा

ब्रह्मर्षि समाज के ‘मोलदियार वंश दर्पण’ का लोकार्पण, MLC नीरज ने कहा- इतिहास जानकर ही भविष्य की बनेगी रुपरेखा

पटना. जदयू के मुख्य प्रवक्ता और पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने शुक्रवार को कहा कि जो व्यक्ति अपने इतिहास को नहीं जानता, वह अपने भविष्य की रुपरेखा नहीं खींच सकता है. उन्होंने मोकामा में ब्रह्मर्षि समाज के मोलदियार वंशजों की वंशावली ‘मोलदियार वंश दर्पण’ का लोकार्पण करते हुए ये बातें कहीं. मोकामा में ब्रह्मलीन सिंघेश्वर सिंह की स्मृति में उनके पुत्र एवं शिक्षाविद विनय कुमार सिंह द्वारा यह पुस्तक लिखी गई है. मोलदियार वंश दर्पण में मोकामा के मोलदियार ब्रह्मर्षि समाज की वंशावली संकलित की गई है. 

मुख्य लोकार्पणकर्त्ता नीरज कुमार ने कहा कि किसी भी व्यक्ति को अपने इतिहास की जानकारी होनी चाहिए. अपने पूर्वजों के बारे में जानकर ही हम उनके सतत विकास के विविध दौर को समझ सकते हैं. विनय कुमार ने मोकामा को एक अमूल्य धरोहर की भांति ग्रंथ दिया है जिससे हम अपने उद्गम सहित पूर्वजों को जान सकेंगे. 

विनय कुमार ने कहा कि मोकामा के मोलदियार ब्रह्मर्षि समाज की ओर से लम्बे अरसे से अपने वंशवृक्ष को संकलित करने की जरूरत महसूस की जा रही थी. इसी कारण उन्होंने इस पुस्तक को लिखने की पहल की है. मोलदियार वंश के गौरवपूर्ण इतिहास और स्वर्णिम अतीत को संकलित करने की कोशिश की गई है. साथ ही मोकामा में मोलदियार ब्रह्मर्षि समाज के विस्तार को जड़ों तक जाकर जोड़ने की कोशिश की गई है. उन्होंने कहा कि यह पुस्तक एक दस्तावेज के रूप में अपनी उपादेयता सिध्द करेगी. 

मोलदियार वंश दर्पण का लोकार्पण नीरज कुमार और विनय कुमार सहित भीमसेन सिंह, प्रभात शर्मा, बृजनंदन सिंह, रतनदेव, विजय सिंह आदि ने किया. वक्ताओं ने इसे मोकामा के लिए और विशेषकर मोलदियार समाज के लिए एक अमूल्य निधि के रूप में बताया. मोलदियार वंश दर्पण में मोकामा के मोलदियार ब्रह्मर्षि समाज की वंशावली संकलित की गई है. 


Find Us on Facebook

Trending News