लगातार बारिश ने बढ़ा दिया गंगा का जलस्तर, पटना में हर घंटे चार सेमी की बढ़ोतरी, निचले इलाके पर खतरे के बादल

लगातार बारिश ने बढ़ा दिया गंगा का जलस्तर, पटना में हर घंटे चार सेमी की बढ़ोतरी, निचले इलाके पर खतरे के बादल

PATNA : बिहार में मानसून की दस्तक हो गई है। बिहार के कई जिलों में लगातार बारिश भी हो रही है, जिसके कारण नदियों में जलस्तर में भी वृद्धि होने लगा है। बिहार की कई नदियों में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। गंडक, कोसी सहित अन्य दूसरी नदियों में अभी से ही पानी खतरनाक स्तर पर पहुंचने लगी है। बिहार के नदियों में रो रही बारिश का असर पटना में भी दिखने लगा है। यहां गंगा नदी में पानी का जलस्तर हर घंटे तीन से चार सेमी की स्पीड से बढ़ रहा है। जिसके कारण गंगा किनारे बने घरों में पानी घुसने की संभावना बढ़ गई है।

गंडक में छोड़ा गया पौने दो लाख क्यूसेक से ज्यादा पानी

गंगा के जलस्तर में हो रही वृद्धि का मुख्य कारण गंडक नदी से छोड़े गए पानी को बताया जा रहा है। बेतिया स्थित वाल्मिकी डैम से एक दिन पहले ही 1लाख 85 हजार क्यूसेक लीटर पानी गंडक और उसकी सहायक नदियों को छोड़ा गया है। जो अब गंगा में मिल गई है। इस कारण से भी गंगा नदी में पानी का जलस्तर बढ़ा है। 

गंगा के आसपास जाने पर लगी रोक

जिस तरह से गंगा नदी के जलस्तर में वृद्धि हो रही है, उसके बाद पटना में गंगा नदी के किनारे बसे सभी झोपड़ियों को खाली कराने के आदेश दिए गए हैं, साथ ही किसी खतरे की संभावना को देखते लोगों को गंगा नदी में घूमने जाने से रोके जाने की बात कही जा रही है। 

Find Us on Facebook

Trending News