भारत के पाकिस्तान पर कार्रवाई से डरा हुआ है चीन, जानिए क्या है इसकी वजह

भारत के पाकिस्तान पर कार्रवाई से डरा हुआ है चीन, जानिए क्या है इसकी वजह

NEWS4NATION DESK : वर्तमान समय में भले तनाव भारत और पाकिस्तान के बीच है, लेकिन इस तनाव से एक और पड़ोसी देश की भी नींद उड़ी हुई है और वह देश है पाकिस्तान का हिमायती चीन। पुलवामा हमले के बाद भारत द्वारा की गई कार्रवाई और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्ता को अलग-थलग पड़ता देख चीन की बैचेनी बढ़ गई है। आखिर वह कौन सी वजह है जिससे कि चीन डरा हुआ है। 

आइए हम आपको बताते है चीन की इस डर और बैचनी की वजह.... 

दरअसल पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत की ओर से बड़ी कार्रवाई की गई। भारत ने आतंकवादियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान में घुसकर आतंकियों के कई ठिकानों को ध्वस्त किया। वहीं इस मामले पर दुनिया के सभी ताकतवर देश भारत के साथ खड़े है। इधर इस मामले में अतंरराष्ट्रीय स्तर पर भी पाकिस्तान अलग-थलग पड़ गया है।  

पाकिस्तान पर आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई करने का दबाव बढ़ गया है। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मदके सरगना मसूद अजहर पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा प्रतिबंध के प्रस्ताव पर सदस्य देशों को अगले हफ्ते 13 मार्च तक फैसला लेना है। 

यहां गौर करने वाली बात यह है कि जैश सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए इस बार फ्रांस की तरफ से सुरक्षा परिषद में प्रस्ताव लाया गया है, जिसेUNSC के 3 अन्य स्थायी सदस्य अमेरिका, ब्रिटेन और रूस का समर्थन हासिल है।

अबतक इस राह में अड़ंगा लगा रहे चीन को पुलवामा अटैक के बाद इस बार प्रस्ताव पर विरोध छोड़ना पड़ सकता है और यहीं सबसे बड़ी वजह है वह डरा हुआ है। 

दरअसल चीन को यह चिंता सताने लगी है कि अगर वह जैश सरगना मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकियों की सूची में शामिल करने का संयुक्त सुरक्षा परिषद् में समर्थन करता है तो ऐसी स्थिति में जैश चीन-पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर (CPEC) को टारगेट कर सकता है। 

चीन ने हाल ही में CPEC के लिए बालाकोट के नजदीक बड़े पैमाने पर जमीन का अधिग्रहण किया है। इसके अलावा, POK से होकर पाकिस्तान को चीन से जोड़ने वाला काराकोरम हाइवे भी मानशेरा से होकर गुजरता है।

CPEC न सिर्फ पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले कश्मीर और गिलगित-बाल्टिस्तान से होकर गुजरता है, बल्कि खैबर पख्तूख्वा के मानशेरा जिले से भी होकर गुजरता है, जहां बालाकोट स्थित है। इसी जिले में कई आतंकी प्रशिक्षण शिविर है। पुलवामा आत्मघाती हमले के बाद इंडियन एयरफोर्स ने बालाकोट में ही जैश के सबसे बड़े ट्रेनिंग कैंप को तबाह किया था।

 

 

Find Us on Facebook

Trending News