NSIT में नए स्टूडेंट्स के लिए इंडक्शन प्रोग्राम का आयोजन, कृष्णा मुरारी बोले- सफलता के लिए लगन और इच्छा शक्ति जरूरी

NSIT में नए स्टूडेंट्स के लिए इंडक्शन प्रोग्राम का आयोजन, कृष्णा मुरारी बोले- सफलता के लिए लगन और इच्छा शक्ति जरूरी

PATNA: बिहटा के अमहारा स्थित एनएसआईटी कॉलेज में बुधवार को बीटेक प्रथम वर्ष के छात्र-छात्राओं के लिए इंडक्शन प्रोग्राम का आयोजन किया गया। जिसका शुभारम्भ एनएसआईटी के रजिस्ट्रार कृष्णा मुरारी, एनएसआईटी के गवर्निंग बॉडी के चेयरमैन एमपी त्रिपाठी, एनएसआईटी की डीन श्रद्धा पंडित, नेताजी सुभाष मेडिकल एंड हॉस्पिटल के प्रिंसिपल डॉ अरविन्द प्रसाद, मेडिकल सुपरिटेंडेंट सीता राम प्रसाद और डिप्टी मेडिकल सुपरिटेंडेंट सुरेंद्र प्रसाद सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया।

कार्यक्रम में छात्रों को संबोधित करते हुए एनएसआईटी के रजिस्ट्रार कृष्णा मुरारी ने छात्रों को अपने जीवन में अनुशाशन को सर्वोच्च महत्व देने को कहा। उन्होंने ने छात्रों  से कहा अगर आप अपने जीवन को अनुशाशन के साथ जिए और अपने कर्तव्यों का सही से पालन करें तो सफलता आपके कदम चूमेगी। कृष्णा मुरारी ने ये भी कहा की आज पूरा विश्व इंटरनेट से जुड़ कर एक परिवार हो गया है। आप चाहे तो भी देश ही नहीं पूरी दुनिया की जानकारी घर बैठे प्राप्त कर सकते हैं। सिर्फ जरूरत है लग्न और इच्छा शक्ति के साथ पढ़ाई करने की ।

वहीं नेताजी सुभाष मेडिकल एंड हॉस्पिटल के प्रिंसिपल डॉ अरविन्द प्रसाद ने कहा कि आज आधुनिक समय में हमारे यहां इनोवेशन संस्कृति का अभाव है। हमें नये विचारों के लिए अनुकूल माहौल बनाना होगा। लीक से हटकर सोचने की आदत विकसित करनी होगी। इनोवेशन का मतलब प्रयोगशाला या विज्ञान से कतई नहीं है। 

एनएसआईटी गवर्निंग बॉडी के चेयरमैन एमपी त्रिपाठी ने नए छात्रों और उनके अभिभावकों को स्वागत करते हुए कहा कि एनएसआईटी कॉलेज आधुनिक सुविधाओं से लैस है।छात्रों की सफलता ही एनएसआईटी का मुख्य उद्देश्य है। उन्होंने छात्र-छात्राओं को शिष्टाचार का महत्व बताते हुए कहा कि सफलता के लिए शिष्टाचार बहुत जरूरी है। 

 एनएसआईटी की डीन श्रद्धा पंडित ने कहा कि समाज में एक सफल व्यक्ति बनने के लिए लक्ष्य के साथ पढ़ाई करें तभी आप एक ईमानदार इंसान एवं एक सफल इंजीनियर बनकर राष्ट्र के निर्माण में अपना योगदान दे सकेंगे। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार गीता मे श्री कृष्ण ने कहा था की कर्म कर और फल की चिंता मत कर उसी तरह छात्र को चाहिए की जीवन में एक लक्ष्य बनाएं और उसकी प्राप्ति के लिए परिश्रम करते रहें| कठिन परिश्रम और सुव्यवस्थित प्रयत्नों से आने वाले समय में जीवन के एक सफल और ईमानदार इंजीनियर अवश्य बन जाएंगे | इस मौके पर पवन सिंह ,एपी सिंह,आदित्य शेखर,आशीष कुमार सिं ,रमाकान्त सिंह सहित कई लोग शामिल थे ।

Find Us on Facebook

Trending News