ब्रह्मोस मिसाइलों से लैस INS-विशाखापट्टनम भारतीय नौसेना में शामिल, जानिये नौसेना को कितनी मजबूती मिलेगी

ब्रह्मोस मिसाइलों से लैस INS-विशाखापट्टनम भारतीय नौसेना में शामिल, जानिये नौसेना को कितनी मजबूती मिलेगी

Desk. ब्रह्मोस मिसाइलों से लैस विमान वाहक पोत आईएनएस विशाखापट्टनम आज भारतीय नौसेना के बेड़े में शामिल हो गया है. इससे भारती नौसेना को और भी मजबूती होगी. इसे नौसेना के शीर्ष कमांडरों की मौजूदगी में सेवा में शामिल किया गया है. इस समारोह में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह भी शामिल हुए. इस मौके पर राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत जल्द ही पूरी दुनिया के लिए जहाजों का निर्माण करेगा.

इस दौरान रक्षा मंत्री ने कहा कि यह युद्धपोत 163 मीटर लंबा है. साथ ही यह पोत आधुनिकतम तकनीकों से युक्त है. अत्याधुनिक सेंसर और हथियारों के साथ यह युद्धपोत दुनिया के सबसे आधुनिक मिसाइल डिस्ट्रॉयर में से एक होगा. रक्षा मंत्री ने कहा कि इसके निर्माण में प्रयोग किए गए फीचर्स न केवल आज की, बल्कि भविष्य की जरूरतों पर भी खरे उतरने वाले हैं. इसका सेना में शामिल होना भारत की पुरातन और मध्यकालीन समुद्री ताकत और उसके गौरवमयी इतिहास को दर्शाता है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीन पर निशाना साधते हुए कहा कि वर्चस्ववादी प्रवृत्तियों वाले 'कुछ गैर-जिम्मेदार देश' अपने संकीर्ण पक्षपातपूर्ण हितों के कारण समुद्र के कानून पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन को गलत तरीके से परिभाषित कर रहे हैं. रक्षा मंत्री ने कहा कि यह चिंता की बात है कि यूएनसीएलओएस की परिभाषा की मनमानी व्याख्या कर कुछ देशों द्वारा इसे लगातार कमजोर किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि अपना आधिपत्य जमाने और संकीर्ण पक्षपाती हितों वाले कुछ गैर-जिम्मेदार देश अंतरराष्ट्रीय कानूनों की गलत व्याख्या कर रहे हैं.

आईएनएस विशाखापट्टनम की विशेषताएं

  • हवाई हमले से बचने के लिए आईएनएस विशाखापट्टनम 32 बराक 8 मिसाइल से लैस है.
  • मिसाइल सतह से हवा में मार करता है.
  • इसका इस्तेमाल विमान, हेलिकॉप्टर, एंटी शिप मिसाइल, ड्रोन, बैलिस्टिक मिसाइल, क्रूज मिसाइल और लड़ाकू विमान को नष्ट करने के लिए किया जाता है.
  • आईएनएस विशाखापट्टनम 16 ब्रह्मोस मिसाइल से लैस है.
  • आईएनएस विशाखापट्टनम की लंबाई 163 मीटर, चौड़ाई 17 मीटर और वजन 7400 टन है.
  • इसकी अधिकतम रफ्तार 55.56 किलोमीटर प्रतिघंटा है.

Find Us on Facebook

Trending News