बिहार कैडर के IPS अधिकारी रहे और CBI के पूर्व निदेशक रंजीत सिन्हा का निधन, सीबीआई चीफ रहते लगे थे कई गंभीर आरोप

बिहार कैडर के IPS अधिकारी रहे और CBI के पूर्व निदेशक रंजीत सिन्हा का निधन, सीबीआई चीफ रहते लगे थे कई गंभीर आरोप

PATNA: बिहार कैडर के आपीएस रहे और सीबीआई के पूर्व निदेशक रंजीत सिन्हा का आज तड़के दिल्ली में निधन हो गया है. खबर के मुताबिक उन्होंने दिल्ली में आज सुबह साढ़े 4 बजे के आसपास अंतिम सांसें लीं. रंजीत सिन्हा लालू प्रसाद के करीबी माने जाते थे। सीबीआई डायरेक्टर रहते उन पर कई गंभीर आरोप भी लगे थे। उन्होंने सीबीआई निदेशख से पहले आईटीबीपी डीजी जैसे कई अहम पदों की जिम्मेदारी संभाली थी. 

बता दें, बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी रंजीत सिंह 1974 बैच के ऑफिसर थे. सीबीआई महानिदेशक का पद संभालने से पहले वे भारत-तिब्बत सीमा पुलिस के निदशक के पद पर थे. 22 नवंबर 2012 को उन्हें दो सालों के लिए सीबीआई चीफ बनाया गया था. सीबीआई ने उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले में केस भी दर्ज किया था. रंजीत सिन्हा पर आरोप लगा था कि उन्होंने सीबीआई चीफ के पद पर रहते हुए कोयला आवंटन घोटाले की जांच को प्रभावित करने की कोशिश की थी.


अप्रैल 2013 में सीबीआई निदेशक रंजीत सिन्‍हा विवादों में तब आए थे, जब कोयला घोटाले की जांच रिपोर्ट का ड्राफ्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंपने से पहले उन्‍होंने उसे तत्कालीन कानून मंत्री अश्विनी कुमार को दिखाया था. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने रंजीत सिन्हा के काम करने के तरीके पर भी सवाल उठाते हुए नाराजगी जताई थी.रंजीत सिन्हा के आधिकारिक आवास की विजिटर डायरी की जांच से कथित तौर पर पता चला था कि कोयला घोटाले से जुड़े मामलों के कई आरोपी उनके घर आते थे. इस पर सुप्रीम कोर्ट ने सिन्हा की भूमिका की जांच के लिए सीबीआई को आदेश दिया था. 1974 बैच के आईपीएस अधिकारी सिन्हा 2012 से 2014 के बीच सीबीआई निदेशक रहे थे.सीबीआई के पूर्व निदेशक रंजीत सिन्हा पर चारा घोटाले के आरोपी लालू प्रसाद यादव से भी बेहतर बेहतर संबंध होने के भी आरोप लगे. लालू प्रसाद के रेलमंत्री रहते ही रंजीत सिन्हा की आरपीएफ के मुखिया के रूप में नियुक्‍ति हुई थी.



Find Us on Facebook

Trending News