इस मामले में लालू को भी पीछे छोड़ रहे तेजस्वी ....पढिये पूरी खबर

इस मामले में लालू को भी पीछे छोड़ रहे  तेजस्वी ....पढिये पूरी खबर

पटना. बिहार में हो रहे विधानसभा चुनाव को लेकर चुनाव प्रचार का दौर जोरों पर है. रविवार को पीएम नरेंद्र मोदी भी बिहार में एक ही दिन में चार जनसभाओं को संबोधित कर रहे हैं. वहीं सीएम नीतीश कुमार  भी उनके साथ हैं. बिहार में जारी चुनाव प्रचार के दौर में अगर सबसे अधिक चर्चा में कोई चेहरा है तो वह है तेजस्वी यादव. लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम रह चुके तेजस्वी यादव ने इस बार के चुनाव प्रचार में पिछले पुराने कीर्तिमान को ध्वस्त कर दिया है.

इसके साथ ही तेजस्वी यादव ने अपने पिता के भी उस रिकॉर्ड को तोड़ दिया है जो कि एक दिन में सबसे अधिक चुनाव प्रचार की रैलियों को संबोधित करने का था. तेजस्वी यादव ने शनिवार को बिहार के अलग-अलग इलाकों में 17 रैलियां की जो कि हेलिकॉप्टर के माध्यम से की गई थीं इसके अलावा तेजस्वी यादव ने सड़क मार्ग से भी दो प्रचार रैलियों को संबोधित किया यानी एक दिन में तेजस्वी 19 बार लोगों से किसी जनसभा में मुखातिब हुए.
रोज 12 से 15 सभाएं करते हैं तेजस्वी
बिहार में एक दिन में सबसे अधिक रैली करने का रिकॉर्ड उनके पिता लालू प्रसाद यादव का था जो कि इस बार के चुनाव में नहीं दिख रहे हैं, ऐसे में पिता की गैरमौजूदगी को जिम्मेवारी और चुनौती के रूप में लेते हुए तेजस्वी यादव ने नया कीर्तिमान स्थापित किया है. रविवार को भी तेजस्वी यादव नीतीश कुमार के इलाके में कई चुनावी जनसभाओं को संबोधित कर रहे हैं. बिहार में नेताओं की तरफ से सबसे अधिक जनसभाओं को संबोधित करने में सबसे ऊपर तेजस्वी यादव का ही नाम शामिल है. वो रोजाना औसतन 12 से 15 जनसभाएं कर रहे हैं और उनका हेलीकॉप्टर लगभग 4 घंटे रोजाना हवाई चक्कर काट रहा है.
नीतीश और चिराग काफी पीछे

तेजस्वी यादव की तुलना में अन्य सभी नेता लगभग आधे मुकाम पर हैं. बिहार के सीएम नीतीश कुमार औसतन एक दिन में चार से पांच सभाओं में जा रहे हैं. तेजस्वी के बड़े भाई कहे जाने वाले चिराग पासवान भी काफी पीछे हैं. चिराग एक दिन में 6-8 जनसभाओं को ही संबोधित कर रहे हैं. बिहार में पहले फेज की वोटिंग हो चुकी है जबकि दूसरे और तीसरे चरण का मतदान क्रमश: 3 और 7 नवंबर को होगा. वहीं चुनाव के नतीजे 10 नवंबर को आएंगे. ऐसे में सभी को इंतजार इस बात का है कि क्या तेजस्वी यादव द्वारा की जाने वाली चुनावी रैलियों का असर बिहार में इस बार के चुनाव के नतीजों पर देखने को मिल सकता है.

Find Us on Facebook

Trending News