87 साल के इतिहास में पहली बार होगा ऐसा, नहीं होगी भारतीय क्रिकेट की यह विश्व प्रसिद्ध प्रतियोगिता

 87 साल के इतिहास में पहली बार होगा ऐसा, नहीं होगी भारतीय क्रिकेट की यह विश्व प्रसिद्ध प्रतियोगिता

डेस्क। भारत में घरेलू क्रिकेट की वापसी हो गई है। हाल में ही बीसीसीआई ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का सफल आयोजन किया है, जिसके बाद अब विजय हजारे ट्रॉफी के आयोजन को मंजूरी दी गई है। लेकिन इन सबके बीच बीसीसीआई ने जो सबसे बड़ा फैसला लिया है, वह रणजी ट्रॉफी के आयोजन को लेकर। बोर्ड ने फैसला लिया है कि इस साल रणजी ट्रॉफी का आयोजन नहीं किया जाएगा। 87 साल में पहली बार फर्स्ट क्लास घरेलू टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी का आयोजन नहीं हो सकेगा।

रणजी ट्रॉफी को रद्द करने के फैसले को लेकर बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने राज्य संघों को भेजे अपने पत्र में लिखा है कि यह फैसला राज्य संघों से मिले फीडबैक और कोरोना वायरस की वजह से लिया गया है। क्रिकेट कैलेंडर में हमने काफी वक्त गंवा दिया है। ऐसे में हम वनडे ट्रॉफी कराने को लेकर प्रतिबद्ध हैं। यह भी जरूरी है कि हम महिला क्रिकेट को भी शुरू करें। ऐसे में महिला (सीनियर महिला वनडे ट्रॉफी), पुरुष (विजय हजारे ट्रॉफी) और अंडर-19 (वीनू मांकड़ ट्रॉफी)युवा क्रिकेट में वनडे ट्रॉफी का आयोजन करने के लिए तैयार हैं।

बता दें कि भारत ने कोरोना काल में सैयद मुश्ताक अली टी-20 टूर्नामेंट का सफलतापूर्वक आयोजन करवाया है। इसके लीग सहित सेमीफाइनल मैच खत्म हो चुके हैं और अब बस फाइनल मैच बचा है। आपको बता दें भारत और साउथ अफ्रीका के बीच पिछले साल मार्च में होने वाली सीरीज को कोरोना महामारी फैलने के बाद स्थगित कर दिया गया था। देहरादून में खेला जाने वाले तीन मैचों की वनडे सीरीज का दूसरा मैच बारिश की वजह से रद्द करना पड़ा था। इसके बाद इस सीरीज को स्थगित कर दिया गया था।

भारत में इंग्लैंड के साथ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज

 अब जब सब लोग कोरोना से धीरे -धीरे उबर रहें है तो यह  भारत-इंग्लैंड के बीच होने वाली टेस्ट सीरीज से पहले एक पॉजिटिव खबर है। दोनों देशों के बीच 5 फरवरी से टेस्ट सीरीज का आगाज हो रहा है। दोनों देशों के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज के बाद, पांच मैचों की टी-20 सीरीज और तीन मैचों की वनडे सीरीज खेली जाएगी।

Find Us on Facebook

Trending News