संतान सुख की चाह रखने वाले दंपतियों के लिए IVF तकनीक एक बेहतर विकल्प

संतान सुख की चाह रखने वाले दंपतियों के लिए IVF तकनीक एक बेहतर विकल्प

PATNA : दांपत्य जीवन में प्रवेश  करने के बाद संतान सुख की प्राप्ति एक बेहद ही सुखद अनुभव होता है हर दंपत्ति जीवन में संतान सुख प्राप्त करना चाहता है लेकिन आज के आधुनिक युग में हमारे वातावरण , खानपान , रहन सहन एवं  तनाव ने बहुत सारी बीमारियों को भी जन्म दे दिया है  जिनमें से एक बीमारी है  नि:संतानता.  जिसे हम आम बोलचाल की भाषा में  बांझपन भी कहते हैं. खुशी की बात यह है की आई वी एफ तकनीक से इस बीमारी का इलाज संभव है ,जिसे आम भाषा मे टेस्ट टयूब बेबी भी कहा जाता है. 

निसंतानता क्या है? इलाज की प्रक्रिया एवं खर्च 

यदि कोई दंपति (पति एवं पत्नी) बिना कोई गर्भनिरोधक तकनीक का  इस्तेमाल किए 1 साल तक साथ रहने के बावजूद भी संतान प्राप्ति नहीं कर पा रही है तो वे निसंतानतता की श्रेणी में आ जाते हैं ऐसे दंपति को संतान प्राप्ति के लिए तुरंत चिकित्सकीय सलाह लेना चाहिए। यदि कोई निःसंतान दंपति इनफर्टिलिटी सेंटर जाते हैं तो सबसे पहले उनकी जांच की जाती है ताकि उनमें निसंतानता के कारणो का पता लगाया जा सके और फिर जो भी समस्या हो उनके अनुसार उनका  इलाज किया जाता है और इलाज  का खर्च आपके बीमारी पर निर्भर करता है .कुछ बीमारी दवाओं से ठीक हो जाती हैं  जिसमे बहुत ही कम खर्च करने की जरूरत होती है एवं किसी बिमारी में जांच एवं दवाईयो मे खर्च थोड़ा बढ़ जाता है.  

IVF तकनीक एक बेहतर विकल्प 

आजकल IVF  के फील्ड में एडवांसमेंट जैसे लेजर, ब्लास्टो सिस्ट की टेक्निक, अच्छे लैब की व्यवस्था के कारण IVF का सक्सेस रेट पहले के मुकाबले मे अधिक हो गया है जबकि पहले इसकी सफलता दर बहुत कम हुआ करती थी IVF की तकनीक उन महिलाओं में विशेषकर लाभदायक है जिनकी नलिया या ट्यूब बंद है या जिनको मासिक धर्म आना बंद हो गयी है या जिनके पति के शुक्राणु एवं उसके गुणवत्ता में कमी है। अधिक जानकारी  के लिये डॉ अनुपम कुमारी , इनफर्टिलीटी स्पेशलिस्ट , इंदिरा आई वी एफ पटना ,कंकडबाग शाखा से सम्पर्क कर सकते है।

Find Us on Facebook

Trending News