जलजमाव से परेशान व्यवसायियों ने कहा, वे जितना टैक्स देते हैं उससे सरकार पैदल चलने की व्यवस्था कर दे

जलजमाव से परेशान व्यवसायियों ने कहा, वे जितना टैक्स देते हैं उससे सरकार पैदल चलने की व्यवस्था कर दे

SITAMARHI : सीतामढ़ी में रुक रुक कर हो रही हल्की बारिश से पूरा शहर पानी पानी हो गया है. जिसका कारण बस एक ही सामने आया है कि शहर के तमाम नाले या तो जाम पड़े है या छोटे नालों का कनेक्शन बड़े नाले से नहीं किया गया है. स्थानीय लोग बताते है कि ये समस्या कमोवेश हमेशा और हर साल बनी रहती है. 

इस समस्या को गंभीरता से लेते हुए सीतामढ़ी डीएम अभिलाषा कुमारी शर्मा ने नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी, बीडीओ, सीओ समेत अन्य अधिकारियों के साथ गहन बैठक भी की थी. जिसमें उनके अधिकारियों ने डीएम को आश्वस्त किया था कि जल जमाव की समस्या को लेकर युद्ध स्तर पर कार्य किया जा रहा है. उन्होंने जल्दी ही इसके निदान का भरोसा डीएम को दिलाया था. 

इन इलाकों में जल जमाव 

जलजमाव शहर की बड़ी समस्या है. अब हालत यह है कि नगर के बीचों बीच स्थित सदर अस्पताल, कोटबाजार, सोनावती कॉलोनी, खिलाफत बाग, रघुनाथपुरी समेत अन्य इलाकों में जल जमाव से स्थिति नारकीय हो गई है. कमोबेश पूरे शहर की यही तस्वीर है. जबकि ये सभी मोहल्ले शहर के रिहायशी इलाके में आते है. 

जल जमाव से परेशान शहर के व्यवसाई नगर परिषद को नर्क परिषद की बताते है. उनका कहना है कि जितना व्यवसायी वर्ग रेवन्यू देते है, उसके एवज में कम से कम सरकार उनके पैदल चलने की तो व्यवस्था कर दे. अक्सर बरसात के दौरान जल जमाव के पानी में इनके सामान बर्बाद होने ने इन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ता है. 

सीतामढ़ी से आदित्यानंद आर्य की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News