बूचड़खाने की जमीन खरीद में करोड़ों की गड़बड़ी का मामला उजागर, डीएम ने कार्रवाई के लिए सरकार को लिखी चिट्ठी

बूचड़खाने की जमीन खरीद में करोड़ों की गड़बड़ी का मामला उजागर, डीएम ने कार्रवाई के लिए सरकार को लिखी चिट्ठी

MOTIHARI : मोतिहारी डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने रक्सौल नगर परिषद के बूचड़खाने के जमीन खरीद में करोड़ो को गड़बड़ी में बड़ी कार्रवाई की है। डीएम ने नगर मुख्य सभापति,कार्यपालक पदाधिकारी और निबंधन पदाधिकारी पर प्राथमिकी दर्ज करते हुए गड़बड़ी की गई राशि वसूली के लिए सरकार को पत्र लिखा है। डीएम की कार्रवाई से गड़बड़ी में शामिल लोगों में हड़कंप मच गया है. 

मिली जानकारी के मुताबिक डीएम ने रक्सौल नगर परिषद के सभापति उषा देवी, कार्यपालक पदाधिकारी गौतम आनंद व निबंधन कार्यालय के तत्कालीन निबंधन पदाधिकारी मनीष कुमार पर प्राथमिकी दर्ज करने के साथ साथ बूचड़खाना के जमीन खरीद में गबन की गई राशि वसूली के लिए सरकार को प्रस्ताव भेजा है. डीएम ने तीन सदस्यीय जांच टीम के रिपोर्ट पर कार्रवाई किया है. सरकार को भेजे गए प्रस्ताव में कहा गया है कि रक्सौल नगर परिषद कोइरिया टोला मुख्य पथ में बूचड़खाने के जमीन खरीद में भारी गड़बड़ी की गई है. 

रक्सौल नगर परिषद के वार्ड पार्षदों ने डीएम को आवेदन देकर बूचड़खाना के जमीन खरीद में भारी गड़बड़ी का आरोप लगाया था. जिसको लेकर डीएम ने वरीय उपसमाहर्ता के नेतृत्व में तीन सदस्यीय टीम का गठन कर जांच कराया था. जांच में जमीन खरीद में सभापति,कार्यपालक पदाधिकारी,निबंधन पदादिकारी व सशक्त कमिटी द्वारा नियम को ताक पर रखकर करोड़ो की गड़बड़ी करने का मामला प्रकाश में आया था. जिसके बाद डीएम ने बूचड़खाना के जमीन खरीद पर रोक लगाते हुए कार्रवाई के लिए विभाग को पत्र भेजा है. डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने बताया कि बूचड़खाने के जमीन एकरारनमा में काफी अनियमितता पायी गई है. जिसके बाद मुख्य पार्षद को पदच्युत करने के साथ साथ कार्यपालक पदाधिकारी व निबंधन पदाधिकारी को निलंबित करने का प्रस्ताव भेजा गया है. वही गबन की गई राशि वसूली के लिए नीलामपत्र दायर करने की अनुसंशा की गई है. 

मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News