बदल गया जम्मू-कश्मीर, घाटी में पूर्ण शांतिपूर्ण और हर्षोल्लास के साथ मना स्वतंत्रता दिवस का उत्सव

बदल गया जम्मू-कश्मीर, घाटी में पूर्ण शांतिपूर्ण और हर्षोल्लास के साथ मना स्वतंत्रता दिवस का उत्सव

NEWS4NATION DESK : जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के बाद पहला स्वतंत्रता दिवस पूर्ण शांतिपूर्ण और हर्षोल्लास के साथ संपन्न हुआ। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने गुरुवार को श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में तिरंगा फहराया। ध्वजारोहण के बाद उन्होंने अर्धसैनिक बलों और जम्मू-कश्मीर पुलिस की परेड का निरीक्षण किया।

इस मौके पर जम्मू-कश्मीर के आवाम को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि सशस्त्र बलों की सतत कार्रवाई से आतंकवादियों ने हार मान ली है। घाटी में अब उनकी एक नहीं चलने वाली है। धरती का स्वर्ग जम्मू-कश्मीर एकबार फिर जन्नत बनेगा। उन्होंने कहा कि केंद्र के फैसले के बाद लोगों को अपनी पहचान को लेकर चिंतित होने की जरूरत नहीं है। 

वहीं जम्मू कश्मीर के मुख्य सचिव रोहित कंसल ने बताया कि कश्मीर घाटी में स्वतंत्रता दिवस का उत्सव शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ और इस दौरान किसी भी अप्रिय घटना की खबर नहीं उन्होंने यह भी बताया कि गुरुवार को रात्रिकाल का पहला विमान 150 यात्रियों को लेकर रवाना हुआ। 

मुख्य सचिव रोहित कंसल ने बताया कि श्रीनगर पहले से ही रात्रिकालीन सेवा देने की क्षमता रखने वाला अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा है और यह खुशी की बात है कि गुरुवार को ही रात्रिकालीन सेवा की शुरुआत भी हो गई।  

जम्मू-कश्मीर प्रशासन (Jammu-Kashmir administration) की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक बडगाम, पुलवामा, अवंतिपोरा, त्राल, गंदेरबल, कुलगाम, बारामुला, शोपियां, अनंतनाग और बांदीपोरा में स्वतंत्रता दिवस का उत्सव मनाया गया। 

Find Us on Facebook

Trending News