जन आकांक्षा रैली से कांग्रेस खुद ही हो गई एक्सपोज़, बिहार में आरजेडी के भरोसे ही होगी हाथ की राजनीति

जन आकांक्षा रैली से कांग्रेस खुद ही हो गई एक्सपोज़, बिहार में आरजेडी के भरोसे ही होगी हाथ की राजनीति

PATNA : पटना के गांधी मैदान में रैली के जरिये शक्ति प्रदर्शन करने निकली कांग्रेस खुद ही अपने सहयोगियों के सामने एक्सपोज़ हो गई है। जन आकांक्षा रैली के जरिये कांग्रेस का मकसद विरोधियों के अलावे अपने सहयोगी दलों को अपनी ताकत का एहसास कराने का था लेकिन उसका यह दांव उल्टा पड़ सकता है।

भीड़ और उससे जुड़ी सफलता के पैमाने पर कांग्रेस की रैली को कतई सफल नहीं माना जा सकता। बावजूद इसके राजनीतिक जानकर इस बात के लिए कांग्रेस की सराहना कर रहे हैं कि 28 साल बाद उसने बिहार में अपने दम पर रैली का आयोजन किया।

लोकसभा चुनाव को लेकर महागठबंधन में अबतक सीट बंटवारा नहीं हुआ है। खबरों के मुताबिक आरजेडी ने कांग्रेस को जितनी सीटों का ऑफर दिया है उसपर कांग्रेस राजी नहीं। सीट बंटवारे पर डेडलॉक के बीच आरजेडी से बातचीत को कांग्रेस ने जन आकांक्षा रैली के आयोजन तक टाल दिया था। कांग्रेस का मकसद रैली में अपनी ताकत दिखाने के बाद मजबूती के साथ आरजेडी से बातचीत करने का था। लेकिन रैली में जिस तरह कांग्रेस एक्सपोज़ हुई उसके बाद अब यह चर्चा होने लगी है कि कांग्रेस के पास आरजेडी के साथ उसकी शर्तों पर चलने का रास्ता ही बचा है।

Find Us on Facebook

Trending News