सिटी एसपी वेस्ट के जांच रिपोर्ट में अधिकारी की लापरवाही नहीं तो रवि को 50 घंटे में जमानत देने का जिम्मेदार कौन ?

सिटी एसपी वेस्ट के जांच रिपोर्ट में अधिकारी की लापरवाही नहीं तो रवि को 50 घंटे में जमानत देने का जिम्मेदार कौन ?

पटना. बिहार पुलिस की रिकॉर्ड में 50 हजार का ईनामी रवि गाेप के फुलवारीशरीफ जेल से 50 घंटे के अंदर ही जमानत पर छूट जाने की जांच रिपाेर्ट सिटी एसपी वेस्ट ने दे दी है। इस रिपाेर्ट में किसी भी पुलिस अधिकारी की कार्रवाई काे लेकर काेई अनुशंसा नहीं की गई है। यानी पूरे मामले की लीपापाेती कर दी गई है। सिटी एसपी की रिपाेर्ट काे पटना पुलिस ने साेमवार काे गृह विभाग नहीं भेजा। इस मामले में एक और पेंच फंस गया है।

पटना पुलिस जिला प्रशासन के माध्यम से फुलवारीशरीफ जेलर से इस मामले में पूछताछ करेगी कि आखिर जब जेलर काे कहा गया था कि 9 दिसंबर काे काेर्ट से प्राेडक्शन वारंट ले लिया जाएगा। 11 बजे तक रवि गाेप काे नहीं छाेड़ें ताे फिर सुबह 8 बजे क्याें छाेड़ दिया गया। यानी अब इस मामले में पटना पुलिस व जेल प्रशासन आमने-सामने हाे गया है। रिपाेर्ट में किसी पुलिस अधिकारी की लापरवाही नहीं है ताे फिर रवि काे 50 घंटे में जमानत मिल जाने का काैन जिम्मेवार है।


पटना पुलिस या जेलर, यह ताे गृह विभाग ही अब तय करेगा। जांच उस सिटी एसपी काे दी गई जिनके थाना क्षेत्र के संगीन केस का फरार आरोपी था रवि। इस मामले की जांच कर रिपाेर्ट देने का जिम्मा सिटी एसपी वेस्ट काे दिया गया था। सिटी एसपी वेस्ट में ही दानापुर थाना आता है। दानापुर थाना में रवि पर हत्या के लिए अपहरण का केस 332/19 दर्ज है जिसमें वह फरार था, ऐसे में सवाल यह है कि जब दानापुर केस का ही वह फरार आराेपी था जाे सिटी एसपी वेस्ट के क्षेत्र का है ताे उन्हीं काे जांच की जिम्मेवारी क्याें दी गई,  क्याें नहीं दूसरे एसपी काे जांच का जिम्मा दिया गया।

इस मामले में पटना के एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा ने कहा कि सिटी एसपी वेस्ट की रिपाेर्ट नहीं गई है। जेलर से इस बाबत पूछताछ हाेगी, उसके बाद रिपाेर्ट काे गृह विभाग भेजा जाएगा। एसपी ने रिपाेर्ट में किसी पर कार्रवाई की अनुशंसा नहीं की है। इस मामले में जेलर काे कहा गया था कि 9 तारीख काे 11 बजे तक रवि को नहीं छाेड़ें। काेर्ट से प्राेडक्शन वारंट ले लेंगे पर उन्हाेंने रवि को 8 बजे सुबह की छाेड़ दिया। 

Find Us on Facebook

Trending News