जानिए कैसे प्यार में घुस रहा पॉलिटिक्स, रिश्तों पर क्या हो रहा है असर

जानिए कैसे प्यार में घुस रहा पॉलिटिक्स, रिश्तों पर क्या हो रहा है असर

डेस्क: अब इश्क में राजनीती का हो रहा है दखल चौंकिए मत एक डेटिंग ऐप पर हुए सर्वे में यह बात सामने आई है. डेटिंग और मैचमेकिंग एक्सपर्ट्स का कहना है कि शहरों में रह रहे भारतीयों में राजनीतिक विचारधारा में टकराव अलगाव की वजह बन रहा है. भारत के साथ ही दुनियाभर में यह ट्रेंड देखने को मिल रहा है कि नई जेनरेशन और करोड़पति महिलाओं में से अधिकतर अपने डेटिंग पार्टनर में फेमिनिज्म और बाकी मुद्दों पर सोच के साथ ही राजनीतिक विचारधारा को अधिक तरजीह दे रही हैं. विचारधाराओं में कम्युनिस्ट, उदारवाद, रूढ़िवाद, फासीवाद और राष्ट्रवादी विचारधारा शामिल है. 

एक ऑनलाइन डेटिंग ऐप के करीब 10 लाख यूजर पर सर्वे किया गया। इसके अनुसार 29% महिलाओं ने बताया कि उन्हें कट्टरपंथी-लेफ्ट विचारधारा वाले लोगों को डेट करना पसंद नहीं है. वहीं 25% पुरुष ऐसे थे जिन्हें कट्टरपंथी और दक्षिणपंथी राजनीतिक विचारधारा वाली महिलाओं को डेट करना पसंद नहीं है. लॉस एंजिल्स से एक ऑनलाइन डेटिंग विशेषज्ञ जूली स्पाइरा के अनुसार चूंकि दुनियाभर में महिलाओं के मुद्दे सामने और केंद्र में हैं, ऐसे में महिलाओं, विशेष रूप से करोड़पति महिलाएं अपने राजनीतिक विचारों को लेकर सबसे मुखर रही हैं. चेन्नई की स्वेता प्रियदर्शनी कहती हैं, जब आप बहुत सारे मतभेद देखते हैं तो यह प्राथमिकता नहीं है. लेकिन भारत में वर्तमान राजनीतिक परिदृश्य के साथ, बहुत सारी राजनीतिक विचारधाराएं हैं जिनसे मैं खुद को जोड़ना नहीं चाहती हूं.

22 वर्षीय प्रियदर्शनी ने हाल ही में डेटिंग ऐप पर उस आदमी से ब्रेकअप किया जिसकी राजनीतिक विचारधारा उनके बिल्कुल उलट थी. डेटिंग इंडस्ट्री की एक्सपर्ट और लंदन में डेटिंग ऐप फाउंडर चार्ली लेस्टर कहती हैं कि लोग इन दिनों एक दूसरे को वैल्यू सिस्टम के आधार पर मूल्यांकन कर रहे हैं. इन दिनों राजनीति एक बड़ा इंडिकेटर हो गया है. डेटिंग चॉइस में राजनीतिक विचारधारा ने पिछले दो तीन साल में अमेरिका में जोर पकड़ा और अब यह भारत और यूके में भी देखने को मिल रहा है. इसलिए अगर इश्क में उतरना है तो राजनीति से बचिए.

Find Us on Facebook

Trending News