जदयू का तेजस्वी से सवाल, 15 वर्षों के शासन को बिहार के इतिहास का काला अध्याय क्यों बोलते हैं?

जदयू का तेजस्वी से सवाल, 15 वर्षों के शासन को बिहार के इतिहास का काला अध्याय क्यों बोलते हैं?

Patna : बिहार विधान सभा चुनाव के एलान के साथ ही पक्ष-विपक्ष का एक-दूसरे पर हमले का दौर तेज हो गया है। हालांकि इसबार कोरोना की वजह सार्वजनिक तौर पर रैली पर रोक लगा दी गई है। ऐसे में सभी राजनीतिक दल सोशल मीडिया के माध्यम से एक-दूसरे पर हमलावर है। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष व राजद नेता तेजस्वी यादव द्वारा ट्वीट के माध्यम से सीएम नीतीश पर जोरदार हमला बोला गया था। अब तेजस्वी के उस ट्वीट का जवाब भी जदयू की ओर से ट्वीट के माध्यम से दिया गया है। 

जदयू ने अपने सोशल मीडिया के ट्वीटर अकाउंट पर एक के बाद एक कई ट्वीट कर तेजस्वी पर बड़ा हमला बोलते हुए उनसे कुछ सवालों का जवाब मांगा है। जदयू ने ट्वी करते हुए लिखा है......तेजस्वी यादव जहा इस बात का भी हिसाब बताइये कि आपके पिताजी के 15 वर्षों के शासन को बिहार के इतिहास का काला अध्याय क्यों बोलते हैं? क्यों उसे जंगलराज के नाम से जाना जाता है? बताइये उस राज में कितनी हत्याएं और किडनैपिंग हुई? बिहार में पलायन आपकी पार्टी के शासन में ही क्यों हुआ? 

वहीं जदयू की ओर से आगे लिखा गया है.....रोजगार लाने के लिए युवाओं को अच्छी शिक्षा, अच्छा माहौल भी देना जरूरी है। आपके पिताजी के शासनकाल में कितनी शैक्षणिक संस्थाओं का निर्माण हुआ? रोजगार के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर और बिजली का होना भी जरूरी है आपके पिताजी ने इन सबके लिए क्या किया? यह आप किसी भी बिहारवासी से पूछ सकते हैं।

जदयू ने सवाल किया है कि रोजगार के लिए आपका विज़न क्या है ? क्या आपको पता है कि पर्यटन से भी रोजगार आता है? पर्यटक बंदूक की नोंक पर नहीं लाए जाते। बेहतर सड़कें, कानून का राज, पर्यटन स्थलों की बेहतर देखभाल और बिजली की व्यवस्था करनी पड़ती है। खैर, लालटेन जलाने वालों से बिजली की बात न ही करें तो अच्छा है। बिहार में कितने पर्यटन कितने स्थल हैं आपको मालूम भी है ? दिल्ली तो बहुत घूमें होंगे आप, पर कुछ दिन तो बिताइये बिहार में भी। नीतीश जी ने बिहार को अंधेरे से निकाल कर उजाले में लाने का काम किया है। सोशल मीडिया से निकलकर सड़क पर निकलिए, अंतर समझ आ जाएगा।

पिछले 15 सालों में 2 लाख 63 हजार करोड़ इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च किए गए हैं। ये वही सड़कें हैं जिन पर आपके बड़का भईया BMW चलाते हैं। अब बिहार में अनेकों शैक्षणिक संस्थाओं का निर्माण कराया जा चुका है। जहां बिहार के युवाओं को विश्व स्तर की शिक्षा के माध्यम से रोजगार व स्वावलंबन के नए रास्ते मिल रहे हैं। शिक्षा, समृद्धि और सुशासन लेकर आती है ये बात आप जैसा कूपमंडूक ‘अधपढ़’ क्या जाने। जिन 10 लाख नौकरियों की आप बात कर रहे हैं क्या वह बेहतर शिक्षा, अच्छी सड़कें, 24 घंटे बिजली, कानून का राज के बिना संभव भी है ? आपके पिता जी ने नौकरी का झांसा दे-दे कर लोगों की जमीनें हड़प ली। शिक्षा के लिए चरवाहा विद्यालय खोलने वाले आज रोजगार के लिए अपने विज़न की बात कर रहे हैं। कब तक युवाओं को बरगलाने का काम करेंगे?

बता दें तेजस्वी यादव ने अपने सोशल मीडिया के ट्वीटर अकाउंट पर नीतीश सरकार पर हमला बोलेत हुए लिखा है......15 वर्षों की एनडीए सरकार से बिहार में नौकरी माँगना गुनाह है। नीतीश कुमार और बीजेपी ने मिलकर विश्व में बिहार को बेरोज़गार का केंद्र बना दिया है। युवा विरोधी इस सरकार से हक़ माँगो तो लाठी मिलती है। इसके साथ ही उन्होंने एक तस्वीर भी पोस्ट की है। जिसमें सीएम नीतीश से कुछ नवजवान नौकरी मांगते दिखाए गए है। वहीं सीएम नीतीश द्वारा यह कहा जा रहा है कि चुप हो जाओ, नौकरी मांगनी है तो यहां से दफा हो जाओ। 

Find Us on Facebook

Trending News