जेडीयू की मांग : जेल मैनुअल की अवहेलना कर लालू ने जारी की प्रत्याशियों की लिस्ट, आयोग करे कार्रवाई

जेडीयू की मांग : जेल मैनुअल की अवहेलना कर लालू ने जारी की प्रत्याशियों की लिस्ट, आयोग करे कार्रवाई

PATNA :  जेडीयू ने चुनाव आयोग से राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद के हस्ताक्षर से जारी पार्टी प्रत्याशियों की लिस्ट पर कार्रवाई किए जाने की मांग की है। जेडीयू ने इस मामले को लेकर दोबार पत्र लिखा है। 

जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार द्वारा आयोग को लिखे गये पत्र में कहा गया है कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद भ्रष्टाचार के मामले में रांची के होटवार जेल में बंद है और स्वास्थ्य कारणों से रिम्स, रांची के पेइंग वार्ड में इलाजरत हैं।

नीरज ने पत्र में लिखा है कि जेल मैनुअल के रुल 999 में स्पष्ट है कि कोई भी कैदी निजी मुद्दे पर ही  केवल अपने परिजनों को पत्र लिख सकता है। कैदी जेल के अनुशासन या राजनीति से संबंधित कोई भी पत्र नहीं लिख सकता है। 

पत्र में उल्लेख किया गया है कि लालू प्रसाद जेल से ही एक राजनीतिक दल चला रहे है। इस लोकसभा चुनाव में उनके हस्ताक्षर से प्रत्याशियों को टिकट दिया गया है, जो पारिवारिक न होकर पूरी तरह से राजनीतिक कार्य है। 

नीरज ने कहा है कि लालू प्रसाद का यह कार्य न केवल आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है, बल्कि  जेल मैनुअल रुल संख्या 999 की अवहेलना है। चुनाव आयोग से निवेदन है कि बिहार का जेल मैनुअल जो झारखंड में भी प्रभावी है। 

बता दें कि जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार द्वारा चुनाव आयोग को यह दूसरी बार पत्र लिखा गया है। इससे पहले भी उन्होंने लालू प्रसाद द्वारा सोशल मीडिया पर लगातार बयानबाजी को लेकर पत्र लिखकर कार्रवाई किय़े जाने की मांग की थी। 

कुंदन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News