JDU मूल्यांकन एप्प: नेताओं के काम की होगी समीक्षा, 'पुअर' परफॉरमेंस वाले पदाधिकारियों की होगी छुट्टी

 JDU मूल्यांकन एप्प: नेताओं के काम की होगी समीक्षा, 'पुअर' परफॉरमेंस वाले पदाधिकारियों की होगी छुट्टी

PATNA: बिहार की सत्ताधारी पार्टी जेडीयू अब एक नया प्रयोग करने जा रही है। संगठन से जुड़े नेताओं-कार्यकर्ताओं का हर महीने मूल्यांकन होगा। मूल्यांकन में फेल होने पर जिम्मेदारी से मुक्त की जा सकती है। जेडीयू नेतृत्व की तरफ से यह व्यवस्था प्रयोग में लाने की तैयारी की जा रही है। अध्यक्ष उमेश कुशवाहा के स्तर पर समीक्षा होगी। जिनका परफॉरमेंस खराब होगा उनकी छुट्टी और जिनका प्रदर्शन बेहतर होगा उनकी जिम्मेदारी बढ़ाई जा सकती है। 

 'जेडीयू मूल्यांकन एप्प' लाने की तैयारी

नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू की तरफ से मूल्यांकन एप्प लॉन्च किया जा रहा है। इसे लॉन्च करने को लेकर नेतृत्व से हरी झंड़ी मिल गई है। फाईनल राउंड की तैयारी चल रही है। बहुत जल्द इसे लॉन्च कर दिया जाएगा। एप्प का नाम होगा 'जेडीयू मूल्यांकन एप्प'। एप्प के माध्यम से प्रदेश नेतृत्व प्रखंड स्तर से लेकर राज्य स्तर के पदाधिकारियों के काम का लेखा-जोखा रखेगा। एप्प से सभी प्रखंड़ अध्यक्ष,जिलाध्यक्ष,विस प्रभारी, लोकसभा प्रभारी, प्रदेश पदाधिकारियों के अलावे प्रकोष्ठों के प्रदेश अध्यक्ष जुड़ेंगे। इन सभी पदाधिकारियों की काम की समीक्षा होगी। 

प्रदेश स्तर पर बनेगा मॉनिटरिंग सेल 

प्रखंड से लेकर राज्य स्तर के पदाधिकारी एप्प पर हर दिन पार्टी के लिए जो काम किये हैं उन गतिविधियों को अपलोड करेंगे। इसके बाद राज्य स्तर पर उसकी समीक्षा होगी। प्रदेश अध्यक्ष के नेतृत्व में एक कमेटी नेताओं के काम की समीक्षा करेगी। इसके लिए प्रदेश कार्यालय में एक मॉनिटरिंग सेल काम करेगा। पूरी रिपोर्ट प्रदेश अध्यक्ष के सामने पेश की जाएगी। जेडीयू के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इसका मकसद संगठन के पदाधिकारियों के काम का लेखा-जोखा रखना है। जेडीयू मूल्यांकन एप्प से सभी प्रखंड़ अध्यक्ष लेकर जिला अध्यक्ष और पार्टी के प्रदेश पदाधिकारी जुड़ेंगे। हर महीनें समीक्षा होगी। इससे पार्टी के नेताओं में प्रतिस्पर्धा की भावना पनेगी। जिसका लाभ दल को मिलेगा। 



Find Us on Facebook

Trending News