NDA में तकरार के बीच जदयू को मिला राजद साथ, सीएम नीतीश और ललन सिंह को खुला ऑफर- बेइज्जत मत होइए भाजपा से नाता तोड़िए

NDA में तकरार के बीच जदयू को मिला राजद साथ, सीएम नीतीश और ललन सिंह को खुला ऑफर- बेइज्जत मत होइए भाजपा से नाता तोड़िए

पटना. अग्निपथ योजना के खिलाफ युवाओं और बेरोजगारों के भड़के गुस्से में बिहार भाजपा प्रदर्शनकारियों के निशाने पर है. वहीं भाजपा नेताओं और उनके कार्यालयों पर हुए हमले के बाद बिहार एनडीए भी तकरार बढ़ गया है. भाजपा ने जहाँ राज्य की नीतीश प्रशासन पर उचित समय में कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगा दिया, वहीं जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल का मानसिक संतुलन बिगड़ने तक की बात कर दी. जदयू-भाजपा के बीच चल रहे वाकयुद्ध के बीच अब राजद भी जदयू के समर्थन में उतर गया है. 

राजद के मुख्य प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने सोमवार को कहा कि हम ललन सिंह के बयान का समर्थन करते हैं. भाजपा के संजय जायसवाल देश को खंडित करने वाला बयान देते हैं. अग्निपथ के नाम पर भाजपा ने देश के साथ घात किया है. भाजपा देश में आरआरएस का एजेंडा लागू करना चाहती है जिसे कोई दल स्वीकार नहीं कर रहा है. जदयू भी एनडीए में रहकर घुटन महसूस कर रहा है. इसलिए जदयू को पहले ही एनडीए से अलग हो जाना चाहिए था. 

उन्होंने कहा कि भाजपा सिर्फ धर्म की राजनीति करती है. ऐसे में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को निर्णय लेना चाहिए कि वे क्या करेंगे. उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि विपक्ष एकजुट होकर मोदी को खदेड़ दे. जदयू के साथ राजद के गठबंधन करने के सवाल पर भाई वीरेंद्र ने कहा कि राजद का शीर्ष नेतृत्व यह तय करेगा कि क्या करना है? उन्होंने कहा कि इतना जरुर है कि एनडीए में जदयू को बेइज्जती सहनी पड़ रही है. राजनीति में इज्जत बनाए रखने के लिए जदयू को सही निर्णय लेना चाहिए.


Find Us on Facebook

Trending News