जदयू बोली, राजद और कांग्रेस श्वेत पत्र जारी कर बताए कि उनके राज में कितने अपहरण हुए, इस बार मुकाबला कैदी राज बनाम कानून राज में है

जदयू बोली, राजद और कांग्रेस श्वेत पत्र जारी कर बताए कि उनके राज में कितने अपहरण हुए, इस बार मुकाबला कैदी राज बनाम कानून राज में है

पटना... पटना में एनडीए गठबंधन ने एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया। प्रेस वार्ता में जदयू और हम के प्रवक्ता शामिल रहे। प्रेस वार्ता जारी होने के दौरान जेडीयू नेता नीरज कुमार ने कहा कि 3 नवंबर को दूसरे चरण में 94 विस सीटों पर मतदान होना है। उन्होंने तेजस्वी यादव पर हमला बोलते हुए कहा कि इनका राजनीतिक डीएनए इनके पिता जो 420 के आरोप में जेल में हैं। अगर कांग्रेस और राजद में दम है तो बताएं कि 1990 से लेकर 2005 तक 3091 फिरौती के लिए किडनैपिंग हुआ था, उनका जिम्मेदार कौन है। कांग्रेस श्वेतपत्र जारी करे कि इनमें से कितने में कार्रवाई हुई। फिरौती के लिए अपहरण हुए थे उसका परिणाम क्या हुआ था, उसका श्वेत पत्र कांग्रेस और राजद जारी करे। 

जदयू नेता ने कहा कि 1995 के दौर में चंपारण में अपहरण का पर्यटन फलफूल रहा था। बसों से लोगों के अपहरण हो जात थे और उस दौर में अपहरणकर्ताओं को जंगलराज वाले शासन से संरक्षण दिया जाता था, लेकिन हमारे राज कानून राज में बेतिया के बाल्मिकीनगर में पिछले एक साल में 4 लाख 10 हजार पर्यटक लोग आए हैैं। 

जदयू ने कहा कि बिहार में मुकाबला कैदी राज बनाम कानून राज का है। एक तरफ तो कोई भ्रष्टाचार, बलात्कार व अन्य मामलों में कैदी बना हुआ है। उसको राजनैतिक घोषित कर रहे हैं। लालू-राबड़ी और कांग्रेस बताएं कि जो अपहरण में फिरौती मांगी जाती थी, उसका हिस्सेदार कौन-कौन होता था। क्या बिहार की जनता को उसी दौर में ले जाना चाहते हैं। 

बिहार में कानून का राज यहां की जनता का संकल्प है और हमने जाति, धर्म गुंडा व अन्य किसी पार्टी आधार पर भेदभाव नहीं किया है, लेकिन कुछ लोग बिहार को फिर से उसी पुराने दौर में ले जाना चाहते हैं। बिहार की जनता को अब ये तय करना है कि वो किसके साथ जाएंगे। 

वहीं, जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने कहा कि बिहार बौद्धिक लोगों के लिए जाना जाता है। उन्होंने तेजस्वी पर तंज कसते हुए कहा कि राष्ट्रीय जंगल दल के युवराज कृपया अपने चीं चीं हैंडल वाले को ठीक से रखें। जिनको सरदार पटेल के बारे में पता नहीं है वो क्या बिहार की शिक्षा बेहतर करेंगे। उन्होंने कहा कि तेजस्वी जीअब चिरैयाटांड़ पुल के नीचे ही अब आपका ठिकाना होने जा रहा है। बोरिया बिस्तर बांध लीजिए। 



Find Us on Facebook

Trending News