JDU नेता को अगवा कर जिंदा जलाकर मार डाला, पोल्ट्री फॉर्म के पास जमीन में दफन मिला शव

JDU नेता को अगवा कर जिंदा जलाकर मार डाला, पोल्ट्री फॉर्म के पास जमीन में दफन मिला शव

PATNA : बिहार में भाजपा और जदयू की सरकार है, लेकिन इसके बाद भी लगातार जदयू के नेताओं को निशाना बनाया जा रहा है। एक दिन पहले मधेपुरा में जदयू नेता की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। वहीं आज समस्तीपुर जिले में भी एक जदयू नेता को जिंदा जलाने की घटना सामने आई है। जदयू नेता की हत्या के बाद उसके जले हुए शव को एक सुनसान मकान में दफन कर दिया, जहां से जले हुए शव के अवशेष बरामद किए गए हैं। पुलिस ने मृत जदयू नेता की पहचान मोहम्मद खलील आलम रिज़वी  (34 साल) के रूप में की है। 

घटना मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के हुडहिया गांव की है। मृतकों के परिजनों का कहना है कि मोहम्मद खलील आलम रिजवी बीते 16 फरवरी की सुबह तकरीबन 11 बजे घर से निकला था। इसके बाद उसके मोबाइल से फोन कर पहले पांच लाख रुपया मांगा गया, फिर कुछ देर बाद उसके पिता के मोबाइल पर फोन आया जिसमें 3,75,000 रुपये की डिमांड की गई. परिजनों के द्वारा फोन करने वाले शख्स से पूछा कि पैसा कहां देना है तो उसने इसे अपने अकाउंट में भेजने की बात कही गई. परिजनों ने किसी अनहोनी की आशंका को देखते हुए मुसरीघरारी थाना में इसकी शिकायत की जिसके बाद पुलिस के द्वारा जांच शुरू की गई।

मोबाइल लोकेशन से पहुंचे ठिकाने तक 

पुलिस मोबाइल लोकेशन के आधार पर अपनी जांच को आगे बढ़ा रही थे. इसके तहत वो कार्रवाई करते हुए जब कल्याणपुर थाना क्षेत्र के बासुदेवपुर के पास बूढ़ी गंडक नदी के ढाब में स्थित एक पोल्ट्री फॉर्म के पीछे बने सुनसान कमरे तक पहुंची, लेकिन उन्हें पहली बार कोई ऐसा सुराग नहीं मिला, जो कि खलील आलम तक पहुंचने में मदद करती। जिसके बाद पुलिस लाश के करीब पहुंचकर भी वापस लौट गई। लेकिन सुनसान इलाके में बने एक पोल्ट्री फार्म के पीछे एक कमरे में जेडीयू कार्यकर्ता मोहम्मद खलील आलम रिज़वी की हत्या कर शव को अधजले स्थिति में दफना दिया गया था।

रात में कार्रवाई के लिए दोबारा पहुंची पुलिस

लेकिन, लोकेशन में कोई बदलाव नहीं होता देख दोबारा रात में जब पुलिस उस जगह पर पहुंची और जांच शुरू की तो जो हुआ उसे देखकर सभी दंग रह गए. यहां जेडीयू कार्यकर्ता मोहम्मद खलील आलम रिज़वी की हत्या कर शव को अधजले स्थिति में दफना दिया गया था। मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में नदी से रात में शव को बाहर निकाल कर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए समस्तीपुर सदर अस्पताल भेजा गया.

फिलहाल पुलिस इस मामले में फिलहाल कुछ भी बताने से बच रही है. हालांकि अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है।


Find Us on Facebook

Trending News