सुशासन की सरकार में मेवालाल की क्या दरकार, जेडीयू MLA मेवालाल चौधरी पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप,अब मंत्री बनाने की खबर

सुशासन की सरकार में मेवालाल की क्या दरकार, जेडीयू MLA मेवालाल चौधरी पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप,अब मंत्री बनाने की खबर

पटनाः बिहार में नीतीश कुमार एक बार फिर से बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने वाले हैं. नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में एनडीए घटक दल के कई नेता भी मंत्री पद की शपथ लेंगे।खबर है जेडीयू के विधायक मेवालाल चौधरी को भी मंत्री बनाया जा रहा है। जेडीयू सूत्रों ने बताया कि आज नई सरकार में बतौर मंत्री वे भी शपथ लेंगे। लेकिन जेडीयू के विधायक मेवालाल चौधरी जिस पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैं और बिहार की निगरानी जांच ब्यूरो ने केस दर्ज कराया था उनको भी मंत्री पद से सुशोभित करने की बात सामने आ रही है।

जेडीयू के विधायक 2010-15 के बीच में सबौर कृषि विवि में वाइस चांसलर थे। इन पर जूनियर वैज्ञानिक की बहाली में धांधली और भवन निर्माण में घपला का आरोप है। निगरानी ब्यूरो ने इस मामले की जांच की थी. मेवालाल चौधरी पर स्पेशल विजिलेंस ने 2017 में केस दर्ज किया था और भागलपुर के सबौर थाने में भी 2017 में केस दर्ज हुआ था. जदयू के विधायक मेवालाल चौधरी के खिलाफ आईपीसी की धारा 409, 420, 46,7 468, 471 और 120 बी के तहत भ्रष्टाचार के मुकदमा दर्ज है। इनके खिलाफ अभी भागलपुर के एडीजे-1 की अदालत में मामला लंबित है। 


तेजस्वी को भ्रष्टाचारी कहने वाली पार्टी जेडीयू वैसे ही नेता को बना रहा मंत्री

तेजस्वी यादव को भ्रष्टाचारी बताने वाली पार्टी जेडीयू और एनडीए गठबंधन एक ऐसे विधायक को मंत्री बनाने जा रही है जिस पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप हैं। मेवालाल चौधरी पर पद पर रहने के दौरान भ्रष्टाचार और नौकरी देने में फर्जीवाड़ा का आरोप है। ऐसे में अगर नीतीश कुमार अपने आरोपी विधायक मेवालाल चौधरी को मंत्री पद की शपथ दिलाते हैं सवाल खड़े होंगे।

Find Us on Facebook

Trending News