जदयू विधायक पर हत्या के मामले में जारी हुआ वारंट, माननीय टीवी इंटरव्यू में अपने को बता रहे निर्दोष

जदयू विधायक पर हत्या के मामले में जारी हुआ वारंट, माननीय टीवी इंटरव्यू में अपने को बता रहे निर्दोष

VAISHALI : वैशाली जिले के चर्चित जंदाहा प्रखंड प्रमुख सह रालोसपा नेता मनीष सहनी हत्याकांड मामले में जदयू विधायक उमेश कुशवाहा समेत दस लोगों के खिलाफ 27 अगस्त, सोमवार को न्यायालय द्वारा वारंट जारी किया गया है। यह आदेश ACJM 11 के न्यायालय द्वारा जारी किया गया है।

इस हत्याकांड के बाद से बिहार के सियासत में उबाल आ गया था।  इसके साथ ही आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस पर भारी दबाव था। हत्याकांड में फरार चल रहे विधायक उमेश कुशवाहा ने इस घटना में अपने को निर्दोष बताते हुए एक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर जारी किया।

पुलिस की नजर में फरार, टीवी में दे रहे इंटरव्यू

तीन दिनों पहले एक निजी न्यूज़ चैनल पर एमएलए साहब का इंटरव्यू भी चल रहा था। जिसमें उन्होंने अपने को निर्दोष बताया। इस मामले में चौंकाने वाली बात यह है कि जिला के चर्चित हत्याकांड में नामजद विधायक मीडिया में अपना बयान दे रहे लेकिन जिला की पुलिस की नजरों में वो फरार हैं। पुलिस विधायक को ट्रेस नहीं कर पा रही। 

मनीष सहनी हत्याकांड में मुख्य आरोपी ने किया सरेंडर

मालूम हो की इस घटना में मुख्य आरोपी और पूर्व जंदाहा प्रखंड प्रमुख जयशंकर चौधरी ने  पुलिस के भारी दबाव के कारण कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया था। आरोपी जयशंकर चौधरी ने गोपनीय ढंग से आत्मसमर्पण किया था। इस हत्याकांड में कुल 11 लोगों को आरोपी बनाया गया है।

बता दें कि 13 अगस्त को जंदाहा प्रखंड प्रमुख मनीष सहनी की ब्लॉक परिसर में ही दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मनीष सहनी रालोसपा का जिला सचिव भी था। हत्या से आक्रोशित लोगों ने जमकर बवाल काटा था। कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया था। 

क्या जदयू विधायक को बचा रही पुलिस ?

मनीष सहनी के भाई प्रकाश ने जदयू विधायक उमेश कुशवाहा पर गंभीर आरोप लगाया था। प्रकाश के मुताबिक, मनीष हाल ही में जन्दाहा प्रखंड प्रमुख के पद पर निर्वाचित हुए थे। मनीष के जीतने से पूर्व प्रखंड प्रमुख और जदयू विधायक उमेश कुशवाहा बहुत खफा थे।  

आरोप के मुताबिक उमेश कुशवाहा और उनके समर्थकों ने मनीष को खुलेआम धमकी दी थी कि तुम्हें जीतने नहीं देंगे। अगर जीते तो जीने नहीं देंगे। इसके बाद मनीष को गोलियों से भून दिया गया। इतने गंभीर आरोप के बाद भी पुलिस अभी तक उमेश कुशवाहा को गिरफ्तार नहीं कर पायी है। अब कोर्ट से उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी हुआ है। 


Find Us on Facebook

Trending News