लॉकडाउऩ नहीं लगाने पर CM नीतीश पर सवाल उठाने वाले नेताओं को ललन सिंह ने दिया करारा जवाब, अखबारी नेता बैठे-बैठे ज्ञान देते हैं

लॉकडाउऩ नहीं लगाने पर CM नीतीश पर सवाल उठाने वाले नेताओं को ललन सिंह ने दिया करारा जवाब, अखबारी नेता बैठे-बैठे ज्ञान देते हैं

PATNA:  बिहार में अब तक लॉक डाउन नहीं लगाने पर राजनीति जारी है। सत्ता पक्ष भी नाईट कर्फ्यू लगाने के फायदे पूछ रहा। भाजपा ने तो खुलकर कहा है कि नाईट कर्फ्यू लगाने से कोरोना संक्रमण रोकने में क्या मदद मिलेगी यह समझ में नहीं आ रहा। विपक्षी दल भी नीतीश सरकार को लगातार घेर रहे। लॉक़डाउन लगाने की मांग करने वाले नेताओं को इस बार जेडीयू के वरिष्ठ नेता ललन सिंह ने करारा जवाब दिया है।   

अखबारी नेता बैठे-बैठे ज्ञान दे रहे-ललन

जदयू सांसद ललन सिंह ने कहा कि ऐसे लोग अखबारी नेता, जो सिर्फ बैठे-बैठे ज्ञान देते रहते हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कोरोना के मामलों की रोज समीक्षा करते हैं। अगर राज्य में लॉक डाउन की जरूरत होगी, तो सीएम खुद फैसला ले लेंगे। उन्होंने कहा कि बयानबाजी करनेवाले नेताओं को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के रुख को जान लेना चाहिए.

संकट में बिल में घुस जाते हैं तेजस्वी

ललन सिंह ने तेजस्वी यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि जब भी बिहार पर संकट आता है, तो तेजस्वी बिल में घुस जाते हैं. इतिहास गवाह रहा है कि तेजस्वी ने कभी जनता के बीच मे रहकर सेवा नहीं की. वे  बिल में घुसकर सिर्फ बयानबाजी करते रहते हैं. तेजस्वी कोई ज्ञानी पुरूष तो हैं नही .हाई स्कूल में एडमिशन भी नही हुआ. .तेजस्वी यादव के बयान पर किसी तरह का नोटिस लेने की जरूरत नहीं। 

जदयू नेता ने लोगों से की मास्क लगाने की अपील करते हुए कहा कि  हम हाथ जोड़कर लोगों से मास्क लगाने की अपील करते हैं .जरूरत होने पर ही घर से निकलें, बिना जरूरत बाहर नहीं निकलना चाहिए . देहाती नुस्खा का प्रयोग करते रहना चाहिए, काढ़ा पीते रहिए . पूरी दुनिया मे इस बीमारी का इलाज नहीं सिर्फ बचाव है . सबसे वैक्सीन लेने की अपील करते हुए उऩ्होंने कहा कि वैक्सीन को लेकर केंद्र सरकार ने घोषणा की तो बिहार सरकार ने मुफ्त में वैक्सीन लगाने का फैसला लिया है . अब सभी उम्र और वर्ग के लोगों को मुफ्त वैक्सीन लगेगी . एक मई से 18 साल से उपरके सभी लोगों को वैक्सीन दी जाएगी .इस बार संक्रमण में देखा गया, वैक्सीन लेनेवाले सिर्फ 3 फीसदी लोग संक्रमित हुए .जो संक्रमित हुए उनमें गंभीर संक्रमण नहीं हुआ है .वैक्सीन संक्रमण को गंभीर होने से रोकने में कारगर है .

Find Us on Facebook

Trending News