जेडीयू ने दलित नेताओं के बाद अब अति पिछड़ा समाज के नेताओं को मैदान में उतारा,कहा-नीतीश कुमार ने हमें अधिकार दिया

जेडीयू ने दलित नेताओं के बाद अब अति पिछड़ा समाज के नेताओं को मैदान में उतारा,कहा-नीतीश कुमार ने हमें अधिकार दिया

पटनाः बिहार की सत्ताधारी जेडीयू की तरफ से लगातार वोटरों की गोलबंदी को लेकर नेताओं को मैदान में उथारा जा रहा है।पहले दलित नेताओं को उतार कर मैसेज देने की कोशिश हुई कि नीतीस कुमार ने पंद्रह सालों में महादलितों के उत्थान को लेकर काफी काम किये।इसके बाद जेडीयू ने अति पिछड़े समाज के नेताओं को मैदान में उतारा है।जेडीयू की तरफ से आज अति पिछड़ा समाज के तीन नेताओं को मैदान में उतारा । अति पिछड़ा समाज से आने वाले इन तीन नेताओं ने कहा कि नीतीश कुमार ने पिछले पंद्रह सालों में अति पिछड़ों के उत्थान के जो काम किये उसे यह समाज हमेशा याद रखेगा।

जेडीयू प्रदेश कार्यालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में जहानाबाद के सांसद चंदेश्वर चंद्रवंशी, रामप्रीत मंडल,दुलालचंद्र गोस्वामी और मंत्री मदन सहनी शामिल हुए। जेडीयू नेताओं ने नीतीश कुमार की पंद्रह साल की उपलब्धियों को गिनाया। नेताओं ने कहा कि पंचायती राज में नीतीश कुमार ने अतिपिछड़ा को आरक्षण दिया। नीतीश कुमार के इस पहल से अति पिछड़ा समाज का काफी सम्मान बढ़ा। पहले अति पिछड़ा समाज को मुखिया के घऱ जाने पर जमीन पर बैठना पड़ता था। लेकिन नीतीश कुमार ने अति पिछड़ो को आरक्षण दिया इसका फायदा हुआ कि आज पंचायतों में बड़ी संख्या में अति पिछड़ा के मुखियाजिला परिषद अध्यक्ष बने हैं।

जेडीयू नेताओं ने कहा कि नीतीश कुमार ने नौकरी के क्षेत्र में महिलाओं को 35 फीसदी आरक्षण दिया इसका फायदा भी अति पिछड़ा समाज के लोगों को मिल रहा है।यूपीएससी-बीपीएससी परीक्षा में शामिल होने के लिए प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्रों को मदद देने का प्रबंध नीतीश सरकार ने किया है। पिछड़ा समाज के लोगों को कहीं जाने की जरूरत नहीं है.हमारी सरकार उद्धमिता के क्षेत्र में भी अति पिछड़ों को आगे बढ़ाने का काम किया है। हमारी सरकार हर जिलों में अति पिछड़ा छात्रावास बनवा रही है।कई जिलों में बनकर तैयार है।नीतीश कुमार की सरकार इन छात्रावास में रहने वाले अति पिछड़ा समाज के लोगों को 15 किलो अनाज और एक हजार रू देने का भी प्रबंध किया है।

न्यायपालिका में भी आरक्षण हमारी सरकार ने दिया है। इसके तहत अति पिछड़ा समाज के लोग मुंसिफ मजिस्ट्रेट तक बन रहे हैं।सभी योजनाओं से अति पिछड़ा समाज के लोगों को ही सबसे अधिक मिलता है।अति पिछड़ा समाज बिहार में सबसे अधिक है। हमारा समाज किसी के बहकावे में आने वाला नहीं है।नीतीश कुमार की तरफ अति पिछड़ा समाज टकटकी लगा कर देख रहा है।

मंत्री मदन सहनी ने कहा कि नीतीश कुमार ने पंद्रह सालों में जितना काम किया उसको गिनाया नहीं जा सकता। नीतीश जी के कर्म की बदौलत बिहार को आज सम्मान मिला है। पिछड़े समाज के लोगों को नीतीश कुमार ने हमेशा आगे बढ़ाने का काम किया।अभी हाल में अति पिछड़े समाज के 3 लोगों को विधान पार्षद बनाया है।आगामी विधान सभा चुनाव में अति पिछड़े को और अधिक भागीदारी मिलेगी।

Find Us on Facebook

Trending News