लालू जी अब गांव में नरसंहार नहीं, विकास हो रहा है और ‘तीर’ भ्रष्टाचार मिटा रहा : नीरज

 लालू जी अब गांव में नरसंहार नहीं, विकास हो रहा है और ‘तीर’  भ्रष्टाचार मिटा रहा : नीरज

PATNA : बिहार में अंतिम चरण के लोकसभा चुनाव को लेकर नेताओं के बीच आरोप-प्रत्यारोप और तेज होने लगा है। आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने सोमवार को जेल से ही बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू प्रमुख नीतीश कुमार को पत्र लिखकर उन पर निशाना साधा है। लालू ने नीतीश कुमार को संबोधित पत्र में आरजेडी के चुनाव चिह्न 'लालटेन' को अंधेरा हटाने वाला जबकि जेडीयू के 'तीर' को हिंसा का पर्याय बताया था। इस पत्र पर के जवाब में जेडीयू के विधान पार्षद और प्रवक्ता नीरज कुमार ने लालू को पत्र लिख 'तीर' को भ्रष्टाचार मिटाने वाला बताया है।

जेडीयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने भी लालू के पत्र पर पलटवार करते हुए उन्हें पत्र लिखकर निशाना साधा। उन्होंने लालू को लिखे पत्र में लिखा, ‘आशा है कि आपकी तबियत ठीक होगी। आप इन दिनों चारा घोटाले के कई मामलों में रांची की जेल में कैदी नं - 3351 बनकर रह रहे हैं, ऐसे में शायद आपको 'लालटेन' नहीं दिखाई दे रहा होगा, क्योंकि वहां बिजली है। 

उन्होंने आगे लिखा, "आप आज भी क्यों बिहार को 'लालटेन' युग में ही रखना चाहते हैं, बिहार बहुत आगे बढ़ गया है। आप सच कह रहे हैं कि यह मिसाइल का युग है, ऐसे में आप लालटेन को लेकर कहां बिहार के लोगों को बरगला रहे हैं। ऐसे भी बिहार में 'लालटेन' की पहचान भ्रष्टाचार, अवैध संपत्ति अर्जित करना, उन्माद, जंगलराज की बनकर रह गई है।"उन्होंने आगे लिखा, "प्रारंभ से ही राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की प्रतिबद्घता 'लालटेन' हटाकर राज्य में रोशनी फैलाने की रही है। 'लालटेन' की मद्घम रोशनी में राज्य में पूरी तरह उजाला नहीं हो सकता था, यही कारण है कि गांव-गांव बिजली पहुंचाई गई। गांवों में अब नरसंहार नहीं विकास के कार्य हो रहे हैं।"

जेडीयू के प्रवक्ता ने पत्र में आगे लिखा, "'तीर' का प्रयोग तो त्रेता युग से लेकर द्वापर युग तक में भ्रष्टाचारियों, दुराचारियों, राक्षसी प्रवृत्ति वाले लोगों के विनाश के लिए होता रहा है। कलयुग में भी बिहार के लोग इसे लेकर ही ऐसी प्रवत्तियों के विनाश करने के लिए आगे चल पड़े हैं।"


Find Us on Facebook

Trending News