जदयू नेता की पुलिस ने पिटाई कर तोड़ा हाथ, इलाज के लिए पटना रेफर

जदयू नेता की पुलिस ने पिटाई कर तोड़ा हाथ, इलाज के लिए पटना रेफर

ARA : भोजपुर जिले के आरा शहर में शनिवार की दोपहर छापेमारी के दौरान युवा जदयू के राष्ट्रीय सचिव प्रिंस बजरंगी की डंडे से पिटाई कर दी गई. यह घटना आरा नवादा थाना के पश्चिमी ओवरब्रिज के पास की है. पिटाई से जदयू नेता का दायां हाथ फ्रैक्चर हो गया है. पिटाई से घायल जदयू नेता का इलाज सदर अस्पताल,आरा में कराया गया. युवा नेता ने जिला पुलिस की डीआईयू टीम  पर जानबूझ कर मारपीट किए जाने का गंभीर आरोप लगाया है. कहा है कि पहले मारपीट की अब एक्‍सक्‍यूज दे रहे हैं कि नहीं पहचान पाए इसलिए गलती हो गई. मैं इसकी शिकायत सीएम नीतीश कुमार और जदयू के वरिष्‍ठ नेताओं से करूंगा. साथ ही जेडीयू नेता ने  इस मामले को लेकर पुलिस अफसरों पर कार्रवाई करने की मांग की है. भोजपुर जिले में जदयू नेता बजरंगी के साथ पुलिस द्वारा मारपीट किए जाने की यह दूसरी घटना है. इसके पहले भी प्रिंस बजरंगी की पुलिस के द्वारा पिटाई की गई थी और उसके बाद काफी हो हंगामा हुआ था. मामला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तक पहुंच गया था. बाद में मुख्यमंत्री के निर्देश पर कई अफसरों पर कार्रवाई भी की गई थी. जिसको लेकर जदयू नेता प्रिंस बजरंगी पहले से ही सुर्खियों में थे.  

बताया जाता हैं कि आरा नवादा थाना क्षेत्र के विष्णु नगर निवासी युवा जदयू के राष्ट्रीय सचिव सह सासाराम विधानसभा के प्रभारी प्रिंस बजरंगी शनिवार की दोपहर अपने संवेदक साथियों के साथ सफारी गाड़ी से कहीं जा रहे थे.  इसी बीच पश्विमी ओवरब्रिज के समीप डीआईयू पुलिस की टीम ने सफारी गाड़ी को घेर लिया. इस दौरान नोकझोंक के दौरान टीम ने कथित रूप से जदयू नेता की डंडे से  पिटाई कर दी. जिसमें दायां हाथ फ्रैक्चर हो गया. बाद में घायल जदयू नेता को इलाज के लिए सदर अस्पताल, आरा के इमरजेंसी कक्ष में लाया गया. बाद में उनको बेहतर इलाज के लिए डॉक्टरों ने पटना के पीएमसीएच रेफर कर दिया है.बताया जाता हैं कि डीआईयू की टीम स्कार्पियो से सिविल में बड़हरा थाना के कांड से जुड़े एक आरोपित को गिरफ्तार करने के फिराक में लगी हुई थी. इस दौरान सूचना मिली थी कि एक वांछित आरोपित सफारी गाड़ी से जा रहा है. जिसके बाद टीम ने सिविल में ओवरब्रिज पुल के पास घेराबंदी की. लेकिन, गाड़ी में वांछित आरोपित नहीं मिला. इस दौरान वांछित के भाई को उठाकर ले गई. हालांकि वांछित का भाई कोर्ट से जमानत पर हैं. 

इधर पिटाई से घायल जदयू नेता प्रिंस बजरंगी ने कहा कि जानबूझकर उन्हें पुलिस से पिटवाया गया है. हमेशा वे विधि व्यवस्था को लेकर आवाज उठाते रहे है. पिछले दिनों प्रेस वार्ता भी किया था. शनिवार को वे साथियों के साथ जब सफारी से जा रहे थे. पहले गाड़ी को डीआईयू द्वारा रोका गया. गाड़ी से उतारने के साथ ही डंडा चलाना शुरू कर दिया गया. एक डंडा उनके दायें हाथ पर भी लगा. जिससे फ्रैक्चर हो गया है. बाद में बोल रहे हैं कि नहीं पहचानने के कारण गलती से हो गई है.  इस घटना को लेकर वे अपनी पार्टी के वरीय पदाधिकारियों व पुलिस के अफसरों से शिकायत  करेंगे. इधर, भोजपुर एसपी हर किशोर राय ने कहा कि प्रिंस बजरंगी का एक साथी विपुल सिंह जमीन संबंधी धोखाधड़ी के मामले में आरोपित है. शनिवार की दोपहर डीआईयू की टीम आरोपी को पकड़ने गई थी. बजरंगी द्वारा आरोपी को बचाने के लिए पुलिस पर झूठा आरोप लगाया जा रहा है. मारपीट किए जाने संबंधी आरोप गलत है. 

बताते चलें कि 27 सितंबर 2020 को आरा नवादा थाना क्षेत्र अंतर्गत जगदेव नगर इलाके में हथियारबंद अपराधियों ने सरेशाम जदयू नेता प्रिंस बजरंगी समेत दो लोगों को गोली मारी थी. जिसमें जदयू नेता के साथी  की मौत हो गई थी. जबकि,प्रिंस गोली लगने से घायल हो गए थे. बताया जाता है कि हमलावर चार की संख्या में थे. वारदात को अंजाम देने के बाद आराम से भाग निकले थे. मृतक 25 वर्षीय मिथुन सिंह विष्णु नगर , बैंक कॉलोनी मुहल्ला का निवासी था.  घटनास्थल से 10 खोखा बरामद किया गया था. हमले के मूल में भूमि विवाद व दो गुटों के बीच विवाद की बात सामने आई थी. 

Find Us on Facebook

Trending News