सुशील मोदी 'पद' पाने के लिए ओछी भाषा का कर रहे प्रयोग, JDU का पूर्व डिप्टी CM पर करारा प्रहार

सुशील मोदी 'पद' पाने के लिए ओछी भाषा का कर रहे प्रयोग,  JDU का पूर्व डिप्टी CM पर करारा प्रहार

पटना. जदयू ने सुशील मोदी के बयान पर पलटवार किया है। जदयू के प्रदेश प्रवक्ता अरविंद निषाद ने जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह ‘‘ललन’’ के संबंध में राज्यसभा सांसद सुशील मोदी के द्वारा दिये गये बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने सुशील मोदी के भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बनने की बात कही है, वह सुशील मोदी के मन की बात है।

अरविंद निषाद ने कहा कि सुशील मोदी भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं गृह मंत्री अमित शाह की नजरों में आकर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष पद पाने के लिए अपनी राजनीतिक अवसान की उम्र में सक्रियता दिखा रहे हैं। ताकि भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व इस बात को मान ले कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ सुशील मोदी ही अकेले लड़ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सुशील मोदी अपनी ओछी भाषा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह पर प्रहार कर अपना सी. आर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की नजरों में ठीक करने में लगे हैं।

निषाद ने कहा कि सुशील मोदी मानसिक तोर पर थक चुके हैं। उनपर उम्र का प्रभाव साफ दिख रहा है। उनको अब कोई ऐतिहासिक घटनाक्रम का स्मरण नहीं रहता है। सुशील मोदी का यह कहना कि भाजपा में लंबी अवधि के बाद कोई दोबारा प्रदेश अध्यक्ष नहीं बनता है, जबकि कैलाशपति मिश्र 1980 में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बनाये गए थे। उसके बाद 1993 में कैलाशपति मिश्र को दोबारा भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष पर मनोनीत किया गया।


Find Us on Facebook

Trending News