लालकिला पर झंडा फहराने के लिए जदयू ने किया टारगेट सेट, नीतीश के मंत्री का ऐलान- हम नहीं करते अमित शाह की परवाह

लालकिला पर झंडा फहराने के लिए जदयू ने किया टारगेट सेट, नीतीश के मंत्री का ऐलान- हम नहीं करते अमित शाह की परवाह

पटना. एनडीए से नाता तोड़कर महागठबंधन का दामन थामने वाले नीतीश कुमार आगामी लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे या नहीं इस पर मंथन जारी है. इस पर जदयू ने कहा है कि उन्होंने अपना टारगेट सेट कर लिया है. आगामी लोकसभा चुनाव में महागठबंधन को बड़ी जीत दिलाने और लालकिला पर अपने नेता द्वारा झंडा फहराने के लिए पार्टी प्रयासरत है. ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री श्रवण कुमार ने बुधवार को बड़ा बयान दिया. उन्होंने कहा कि लालकिले पर झंडा महागठबंधन का नेता फहराएगा यही हमारा टारगेट है. हम इसी के लिए प्रयासरत हैं. 

उन्होंने कहा कि अगले महीने मिशन बिहार के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बिहार आ रहे हैं. उनके मिशन शुरू करने पर महागठबंधन को कोई परवाह नहीं हिया. हमारा टारगेट उन्हें हराने का है, अपदस्थ करने का है. हम बस इसी टारगेट पर हैं कि लालकिले पर झंडा महागठबंधन का नेता फहराएगा.


वहीं मंत्री कार्तिकेय सिंह का विभाग बदलकर विधि से गन्ना बनाए जाने पर भारतीय जनता पार्टी के हमले पर भी जदयू ने जोरदार पलटवार किया. मंत्री श्रवण कुमार ने कहा है कि मुख्यमंत्री का यह विशेषाधिकार है. इसलिए इस पर कोई सवाल नहीं होना चाहिए. उन्होंने भाजपा से पूछा कि सवाल उठाने वाले यह बताएं कि देश के गृह मंत्री, रेल मंत्री, रक्षा मंत्री कौन थे. वे अब क्यों बदले गए? किसी का पोर्टफोलियो बदलना CM और पीएम का विशेषाधिकार हैं. इसे लेकर भाजपा की बयानबाजी हास्यास्पद है. 

गौरतलब है कि सीएम नीतीश से मिलने के लिए बुधवार को तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चन्द्रशेखर राव पटना आए हैं. उनके इस दौरे को आगामी लोकसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है. वे पहले भी गैर भाजपाइ दलों को एकजुट करने के प्रयास में रहे हैं. इस बार उनका नीतीश कुमार से मिलना इसलिए भी बेहद खास है क्योंकि मौजूदा समय में पीएम मोदी को सबसे बड़ी पटखनी के रूप में बिहार में नीतीश कुमार ने दी है. भाजपा से नाता तोड़कर बिना किसी परेशानी का उनका महागठबंधन संग सरकार बनाना एक प्रकार से भाजपा के खिलाफ सीधा विद्रोह रहा. नीतीश और जदयू ने भाजपा के खिलाफ कई आरोप भी लगाए हैं कि कैसे उनकी पार्टी को कमजोर करने का षड्यंत्र भाजपा ने रचा. साथ ही नीतीश में पीएम की सारी योग्यता होने की बात भी की गई है. अब श्रवण कुमार ने भी उसी ओर इशारा करते हुए लालकिला पर झंडा फहराने वाली बात कही है. 

Find Us on Facebook

Trending News