उम्मीदवार के नाम पर फंस गई सीएम नीतीश की पार्टी,मिलना था सिंबल मीनापुर वाले को ले गया कुढ़नी वाला,हो गया जबरदस्त खेला

उम्मीदवार के नाम पर फंस गई सीएम नीतीश की पार्टी,मिलना था सिंबल मीनापुर वाले को ले गया कुढ़नी वाला,हो गया जबरदस्त खेला

पटना :  मुजफ्फरपुर वाले मनोज कुशवाहा ने जो खेल खेला है उसका पर्दाफाश हो गया है. टिकट कटने के बाद किसी और का सिंबल लेकर हवा बनाने वाले मनोज कुशवाहा की पोल जदयू ने ही खोल दी है.

Advertisement: 

कुढ़नी और मीनापुर वाले मनोज में हो क्या कन्फ्यूजन
नाम का भ्रम क्या नहीं करवाता. जदूय भी नाम के फेर में फंस गई. देना था सिंबल मीनापुर वाले मनोज कुशवाहा को लेकिन जदयू दफ्तर से कुढ़नी वाले मनोज कुशावाह को फोन कर पटना बुलाया गया और सिबंल देकर भेज दिया गया. दरअसल जदयू ने मीनापुर से मनोज कुशवाहा को अपना प्रत्याशी तय किया. पार्टी के प्रदेश कार्यालय को निर्देश दिया गया मनोज कुशवाहा को बुलाकर सिंबल दे दिया जाए. पार्टी दफ्तर से मनोज कुशवाहा को फोन किया कर पटना बुलाया गया सिंबल लेकर मनोज कुशवाहा चले भी गए लेकिन बाद में पता चला कि सिंबल मीनापुर वाले मनोज कुशवाहा को देना थे लेकिन सिंबल तो कुढनी वाले मनोज कुशावाह ले गए. मनोज कुशवाहा पूर्व मंत्री भी रह चुके हैं.जब इस बात का हल्ला हुआ तो पार्टी ने तुरंत एक्शन लिया और सिंबल वापस लेकर मीनापुर वाले मनोज कुशावाहा को सिंबल दिया. मीनापुर वाले मनोज कुशवाहा किसान प्रकोष्ठ के पूर्व अध्यक्ष रहे हैं. आखिरकार पार्टी ने सही मनोज कुशवाहा को सिंबल दे दिया.


सिंबल वापस करने से पहले कुढ़नी वाले मनोज ने बनाया माहौल
दरअसर जब इस बात की भनक कुढ़नी वाले पूर्व मंत्री मनोज कुशावाहा को लगी कि वो गलती से सिंबल ले आए हैं और उन्होंने माहौल बनाना शुरू कर दिया. मनोज कुशवाहा ने ऐलान कर दिया कि मैं पार्टी को यह सिंबल लौटा रहा हूं क्योंकि मेरा क्षेत्र कुढ़नी है और मैं यहां की जनता को छोड़कर नहीं जा सकता. खबर आग की तरह फैल गई लेकिन बाद में पता चला कि दूसरे के सिंबल लेकर हवा बनाने वाले मनोज कुशवाहा को पार्टी ने तो सिंबल दिया ही नहीं था.

Find Us on Facebook

Trending News