डैमेज कंट्रोल में जुटी बीजेपी, रूठे नेताओं को मनाने में पार्टी के छूट रहे पसीने

डैमेज कंट्रोल में जुटी बीजेपी, रूठे नेताओं को मनाने में पार्टी के छूट रहे पसीने

RANCHI : झारखंड में बीजेपी के अपने नेता ही पार्टी की जीत में रोड़ा अटका रहे हैं। रुठे नेताओं के मनाने में बीजेपी के बड़े नेता लगे हैं। चतरा लोकसभा चुनाव में पिछले बार सुनील सिंह ने जीत दर्ज की थी। लेकिन इस बार सुनील सिंह की राह में अपने ही रोड़ा अटका रहे हैं। चतरा से टिकट नहीं मिलने पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता राजेंद्र साव ने निर्दलीय नामांकन कर दिया है। जाहिर है कि राजेंद्र साव के चुनाव लड़ने से बीजेपी उम्मीदवार सुनील सिंह को ही नुकसान उठाना पड़ेगा। इसको लेकर बीजेपी डैमेज कंट्रोल में जुट गई है।

रविवार को पार्टी का रिपोर्ट कार्ड जारी करने चतरा पहुंचे प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल नाथ शाहदेव ने कहा कि राजेंद्र साव और रामटहल चौधरी भी अंत में अपना समर्थन पार्टी के प्रत्याशी को ही देंगे। 

प्रतुल नाथ शाहदेव ने कहा कि भाजपा प्रत्याशी नहीं बल्कि विचारधारा चुनाव लड़ता है। उन्होंने भाजपा में दो फाड़ के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि पार्टी से टिकट नहीं मिलने से हताश हमारे बागी कार्यकर्ता राजेन्द्र साव भी भाजपा प्रत्याशी को ही समर्थन देंगे। प्रदेश प्रवक्ता ने बताया कि जल्द ही रविंद्र राय और रविंद्र पांडेय की तरह इनका भी मतभेद समाप्त हो जाएगा

शाहदेव ने गिनाई उपलब्धियां

सांसद आवास में उन्होंने मीडिया से बातचीत में प्रतुल नाथ शाहदेव ने सरकार के पांच साल की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि उग्रवाद प्रभावित जिले के रूप में पहचान बना चुके चतरा में जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन से नक्सलवाद की कमर टूट गई है।

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि विगत सालों में नक्सल प्रभावित जिले के रूप में अपनी पहचान बना चुके चतरा जिला में अब विकास की गंगा बह रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के पांच साल के कार्यकाल में जिले के विभिन्न प्रखंडों में क्रियान्वित जनकल्याणकारी योजना चलाए गए हैं, साथ ही उन्होंने बताया कि विगत पांच वर्षों में 224 किलोमीटर पक्की सड़क का गुणवत्तापूर्ण निर्माण कराने के साथ-साथ 537 करोड़ के लागत से करीब 37 हजार गरीब परिवारों को प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना का लाभ दिया गया।

Find Us on Facebook

Trending News