झारखंड चुनाव : सीएम कृषि आशीर्वाद योजना का 22.76 लाख किसानों को मिल रहा लाभ, क्या रघुवर को मिलेगा जनता का आशीर्वाद?

झारखंड चुनाव : सीएम कृषि आशीर्वाद योजना का 22.76 लाख किसानों को मिल रहा लाभ, क्या रघुवर को मिलेगा जनता का आशीर्वाद?

RANCHI: झारखंड के विधानसभा चुनाव पर पूरे देश और खासकर बीजेपी की विशेष नजर है। यहां भाजपा एकबार सत्ता में दोबारा वापसी की पूरी कोशिश में लगी है। वहीं मुख्यमंत्री रघुवर दास के लिए भी यह चुनाव अग्नि परीक्षा है। 

चुनाव में टिकट बंटवारे को लेकर बीजेपी के अंदर भी अंदरुनी कलह जारी है। पार्टी के कई वरिष्ठ नेता अंदर ही अंदर नाराज चल रहे है। झारखंड में बीजेपी के भीष्म पितामह माने जाने वाले पूर्व मंत्री व वरिष्ठ नेता सरयू राय पार्टी से बगावत कर निर्दिलय चुनाव मैदान में उतर गये है। वहीं उन्होंने सीधे सीएम रघुवर को चुनौती देते हुए उनके ही खिलाफ जमशेदपुर पूर्वी सीट से नामांकन दाखिल किया है। 

इधर सीएम रघुवर दास राज्य में अपने द्वारा किये गये कार्यों के भरोसे चुनावी वैतरणी को पार करने के लिए मैदान में उतर रहे है। 

लोकसभा चुनाव में झारखंड में बीजेपी की शानदार कामयाबी के पीछे केंद्र सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का बहुत बड़ा हाथ रहा था। एक सर्वेक्षण में इस बात की तस्दीक भी की गई कि कैसे चुनावों से काफी पहले ही केंद्र सरकार ने देश के करीब 115 पिछड़े जिलों की पहचान करके वहां अपनी कल्याणकारी योजनाएं लागू कीं, जिसका चुनाव में उन्हें फायदा मिला। 

सीएम कृषि आशीर्वाद योजना से मिलेगा आशीर्वाद?

लोकसभा चुनाव में केन्द्र के कल्याणकारी योजनाओं की बदौलत मिली बड़ी जीत के बाद अब रघुवर दास को भी अपनी सीएम कृषि आशीर्वाद योजना को लेकर जीत का पूरा भरोसा है।  

झारखंड के किसानों की नाराजगी दूर करने के लिए सरकार को मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना चलाया। इस योजना के तहत राज्य के छोटे और मंझोले किसानों को खरीफ की फसल के लिए प्रति एकड़ 5 हजार रुपए की आर्थिक मदद दी जाती है। इस योजना के अंतर्गत जिनके पास एक एकड़ से कम जमीन है उन्हें 5 हजार रुपए की सालाना मदद दी जाती है। 

सरकार की इस योजना के राज्य के करीब 22.76 लाख किसानों को फायदा मिल रहा है। 2019-20 में इस योजना पर 2250 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। बीजेपी और खासकर सीएम रघुवर दास को उनकी अपनी इस योजना का लाभ चुनाव में मिलने का पूरा भरोसा है। 

अब देखने वाली बात यह होगी कि बीजेपी के अंदरुनी कलह और वरिष्ठ नेताओं के बागी रुख अपनाए जाने के बाद भी जनता अपना कितना भरोसा सीएम ऱघुवर के प्रति कितना कायम रखती है। वहीं सीएम कृषि आशीर्वाद योजना समेत अन्य कार्यों का कितना लाभ उन्हें मिल पाता है। 

Find Us on Facebook

Trending News