अंकिता मर्डर में झारखंड हाई कोर्ट ने लिया स्वसंज्ञान, डीजीपी- गृह सचिव तलब, विधायक की मांग- शाहरुख को मारी जाए बीच चौराहे पर गोली

अंकिता मर्डर में झारखंड हाई कोर्ट ने लिया स्वसंज्ञान, डीजीपी- गृह सचिव तलब, विधायक की मांग- शाहरुख को मारी जाए बीच चौराहे पर गोली

रांची. झारखंड हाई कोर्ट ने दुमका स्कूल गर्ल मर्डर केस में संज्ञान लेते हुए डीजीपी को तलब कर मामले में रिपोर्ट मांगी है. कोर्ट ने लड़की के परिवार को पर्याप्त सुरक्षा मुहैया कराने का भी निर्देश दिया है. अंकिता मर्डर केस में झारखंड हाईकोर्ट ने मंगलवार को संज्ञान लिया. 

झारखंड के दुमका की 12 वीं कक्षा की छात्रा अंकिता सिंह पर कथित रूप से पेट्रोल डालकर शाहरुख ने 23 अगस्त को आग लगा दी थी। रविवार, 28 अगस्त की तड़के उसने दम तोड़ दिया। अब इसी मामले में झारखंड हाईकोर्ट ने पुलिस महानिदेशक और गृह सचिव को तलब किया. चीफ जस्टिस डॉक्टर रवि रंजन की बेंच ने मामले पर स्टेटस रिपोर्ट मांगी है।

अंकिता को 23 अगस्त को उस समय जिंदा जला दिया गया था जब वहअपने बेडरूम में सो रही थी. शाहरुख ने कथित तौर पर उसके कमरे की खिड़की से उस पर ज्वलनशील ईंधन डाला। घटना के तुरंत बाद उसे अस्पताल ले जाया गया और 28 अगस्त को उसने दम तोड़ दिया। उसकी मौत के बाद इस घटना के झारखंड सहित पूरे देश में सुर्खियां बटोर ली है. वहीं पुलिस ने आरोपी को पहले ही गिरफ्तर कर लिया है. 

झारखंड में विपक्षी दल भाजपा ने इस मामले में राज्य सरकार से आरोपी को जल्द से जल्द सजा दिलाने की मांग की है. चूकी यह मामला दो सम्प्रदायों से जुड़ा है इसलिए यह बेहद संवेदनशील हो गया है. वहीं इस मामले की जांच से जुड़े डीएसपी को भी हटा दिया गया है. वहीं निर्दलीय विधायक सरयू राय ने कहा कि दोषी को चौराहे पर गोली मार देनी चाहिए. पूरे झारखंड में इस मामले को लेकर लोगों में जोरदार गुस्सा देखा जा रहा है. 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को कहा कि झारखंड में एक लड़की की निर्मम हत्या के मामले में अपराधियों को त्वरित और सख्त सजा मिलनी चाहिए. उन्होंने ट्वीट किया, "झारखंड- 12 वीं कक्षा में पढ़ने वाली एक लड़की की निर्मम हत्या की घटना दिल दहलाने वाली है. अपराधियों को त्वरित सजा मिलनी चाहिए.


Find Us on Facebook

Trending News