JHARKHAND NEWS: कोरोना पॉजिटिव होने की बात कहकर छुट्टी ले रहे डॉक्टर्स पर प्रशासन की सख्ती

JHARKHAND NEWS: कोरोना पॉजिटिव होने की बात कहकर छुट्टी ले रहे डॉक्टर्स पर प्रशासन की सख्ती

DESK: कोरोना काल में एक तरफ जहां सभी डॉक्टर नर्स और पैरामेडिकल स्टाफ 24 घंटे अपनी सेवाएं दे रहे हैं और बिना रुके बिना थके काम कर रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ कुछ डॉक्टर से ऐसे हैं जो खुद को कोरोना संक्रमित बनाकर बताकर होम आइसोलेशन में चले गए हैं. हैरानी की बात तो यह है कि ऐसे डॉक्टर ने अपनी कोरोना रिपोर्ट भी किसी को नहीं दिखाई और खुद से ही पॉजिटिव होने की बात कहकर छुट्टी पर चले गए.

देश में एक तरफ जहां डॉक्टरों की कमी की वजह से सेना के रिटायर्ड डॉक्टर और एमबीबीएस के छात्रों को सेवा में लगाया जा रहा है. वहीं दूसरी तरफ कुछ डॉक्टर काम ना करने के अलग अलग बहाने ढूंढ रहे हैं. यह मामला रांची में सामने आया है जहां कई डॉक्टर खुद को कोरोना संक्रमित बताकर होम आइसोलेट हो गए हैं.

रांची के उपायुक्त ने ऐसे डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई करने का मन बना लिया है. उन के निर्देशानुसार ऐसे डॉक्टरों की एक लिस्ट तैयार कर ली गई है जिन्होंने अपने संक्रमित होने की जानकारी नोटिस के जरिए दी, मगर कोई रिपोर्ट साझा नहीं की. रांची उपायुक्त छवि रंजन ने एसडीओ को यह निर्देश दिया है कि ऐसे डॉक्टरों के घर जाकर कोरोना का टेस्ट कराया जाए ताकि सच्चाई सामने आए. वहीं वैसे डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ जो अभी तक अपना योगदान प्रतिनियुक्ति स्थल पर नहीं दे रहे हैं उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी.

उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई के साथ-साथ वेतन पर रोक का आदेश जारी किया गया है. वहीं शो कॉज नोटिस का जवाब 24 घंटे के भीतर देने का निर्देश भी इन सभी को दिया गया है. वहीं न देने पर डीएम एक्ट और आईपीसी एक्ट के साथ साथ आपदा प्रबंधन का केस भी दर्ज करने की बात कही गई है. वहीं डॉक्टरों की लाइसेंस और पैरा मेडिकल स्टाफ की संविदा भी रद्द करने की अनुसंशा भी की जाएगी.

Find Us on Facebook

Trending News