BJP में झोले का झंझटः सांसद-विधायक 'झोला' से कटा रहे कन्नी, 3 केंद्रीय मंत्री समेत 10 सांसद व 40 विधायकों ने PM मोदी की तस्वीर वाला 'बैग' नहीं छपवाया

BJP में झोले का झंझटः सांसद-विधायक 'झोला' से कटा रहे कन्नी, 3 केंद्रीय मंत्री समेत 10 सांसद व 40 विधायकों ने PM मोदी की तस्वीर वाला 'बैग' नहीं छपवाया

PATNA: बिहार भाजपा गरीबों को झोला बांट कर बता रही कि किस तरह पीएम मोदी ने उनके कल्याण के लिए काम किया है। झोले के जरिए बिहार के लोगों तक केन्द्र की योजनाओं का प्रचार किया जा रहा है। झोला बांटने का काम बिहार में 16 अगस्त से शुरू है। पार्टी के विधायकों-सांसदों को झोला बनवाकर गांव-गांव तक बंटवाना है। पार्टी की तरफ से सभी MP और MLA-MLC को टागरेट दिया गया है। लेकिन बड़ी संख्या में ऐसे सांसद-विधायक हैं जो झोले के झमेले में नहीं पड़ना चाहते। विधायकों की बात छोड़िए सूबे में 22 सांसदों में 10 ऐसे एमपी हैं जिन्होंने अब तक बीजेपी के झोला अभियान से अपने आप को दूर रखा है। इन 10 सांसदों में तीन तो केंद्रीय मंत्री हैं जो पीएम मोदी की इस महत्वाकांक्षी योजना के प्रचार-प्रसार से अपने आप को पूरी तरह से अलग रखे हुए हैं. यानी बीजेपी नेतृत्व के आदेश को दल के सांसद-विधायक ही ठेंगा दिखा रहे। 

पीएम मोदी की तस्वीर वाला झोला बांटने में दिलचस्पी नहीं

PM गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत हर महीने पांच किलो मुफ्त अनाज देने की योजना केन्द्र सरकार चला रही है। बीजेपी लोगों को झोला बांटकर यह बता रही है कि उनके घरों तक जो अनाज पहुंच रहा है, वह असल में मोदी सरकार की देन है। भाजपा के कार्यकर्ता बूथ लेवल तक कार्यक्रम आयोजित कर झोला वितरित कर रहे हैं। झोला पर पीएम मोदी की तस्वीर, भाजपा का कमल निशान, पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना की तस्वीर छपी है। पीएम के साथ ही क्षेत्रवार सांसद व विधायक की तस्वीर भी इस पर छपी है। भाजपा के कार्यकर्ता जिला-मंडल लेवल तक कार्यक्रम आयोजित कर झोला वितरित कर रहे हैं। इसके बाद पीडीएस दुकानों में पहुंच कर भी लाभुकों को यह झोला वितरित करने का कार्यक्रम है। 

केवल पांच लाख झोला का हुआ है वितरण 

इधर बीजेपी सूत्रों की मानें तो बिहार के कई सांसद-विधायक इस अभियान में दिलचस्पी नहीं ले रहे। लोकसभा के 17 और राज्यसभा के 5 सांसद कुल मिलाकर 22 एमपी हैं। इनमें से अब तक 17 सांसदों ने झोला वितरण अभियान में अपनी भूमिका अदा की है. कई ऐसे सांसद हैं जिन्होंने 50-60 हजार झोले बनवाने का ऑर्डर दिया और अपने क्षेत्र में बांट रहे।अब तक की जो रिपोर्ट है उसके अनुसार जनार्दन सिंह सीग्रीवाल, प्रदीप सिंह, नित्यानंद राय, संजय जायसवाल, सतीश मिश्रा ने इस अभियान में बेहतर प्रदर्शन किया है। इन सांसदों ने 50-60 हजार झोला बनवाने का ऑर्डर दिया। बड़ी संख्या में झोला का वितरण किया भी जा चुका है। इस अभियान से जुड़े नेताओं का कहना है कि बिहार से जुड़े 4 मंत्रियों में 3 ऐसे मंत्री हैं जिन्होंने 1 लाख झोला वितरण की बात तो छोड़िए एक भी झोला का ऑर्डर नहीं दिया है। वहीं बिहार के 74 विधायकों में पचास फीसदी ऐसे हैं जो झोला बनवाने में अपनी भूमिका का निर्वहन नहीं किया है। सांसदों-विधायकों द्वारा कितना झोला छपवाया-वितरित किया गया? कितने नेताओं ने इस अभियान में अपनी भूमिका निभाई इसकी पूरी रिपोर्ट तैयार की जा रही है। 

 

Find Us on Facebook

Trending News