जीतन राम मांझी को मिला ओवैसी का साथ, पीएम मोदी से दोनों ने कर दी एक साथ एक ही मांग

जीतन राम मांझी को मिला ओवैसी का साथ, पीएम मोदी से दोनों ने कर दी एक साथ एक ही मांग

पटना. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की एक मांग को हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने समर्थन किया है. असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि हम केंद्र सरकार से अपील करते हैं कि संसद भवन की नई इमारत का नाम बाबासहेब अंबेडकर के नाम पर रखा जाए. संसद संविधान पर चलती है इसलिए उस भवन का नाम बाबासहेब अंबेडकर के नाम पर रखना चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि तेलंगाना में भी जो नई विधानसभा की इमारत बनाई जा रही है उसका नाम भी बाबासहेब अंबेडकर के नाम रखने की अपील हम तेलंगाना सरकार से करते हैं. 

हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने मंगलवार को कहा कि सेंट्रल विस्टा का नाम बदला जाना चाहिए. नए संसद भवन का नाम सेंट्रल विस्टा होना गुलामी का प्रतीक मालूम पड़ता है. इसलिए कोई ऐसा नाम रखा जाए जो भारत के कण कण में विराजमान हो. इसके लिए उन्होंने एक नाम का सुझाव भी दिया है. मांझी ने ट्विट कर कहा है, देश के वर्तमान हालात एवं जनभावना को देखते हुए मैं माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से आग्रह करता हूं कि “सेंट्रल विस्टा” का नाम बदलकर “बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर परिसर” किया जाए. “सेंट्रल विस्टा”नाम गुलामी का प्रतिक लगता है जबकि “अंबेडकर” शब्द भारत के कण-कण में विराजमान है.

हालांकि मांझी की इस मांग पर अभी पीएम मोदी या केंद्र सरकार या फिर भाजपा की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. डॉ भीमराव अम्बेडकर को संविधान निर्माता कहा जाता है. देश की संघीय व्यवस्था का संचालन संविधान के अनुरुप ही होता है. ऐसे में संविधान निर्माता डॉ भीमराव अम्बेडकर के सम्मान में देश के नए संसद भवन का नामकरण करने की मांग जीतन राम मांझी ने की है. 

इसके पहले तेलंगाना सरकार ने भी एक प्रस्ताव विधानसभा में पास किया है जिसमें साफ तौर पर कहा गया है कि नए संसद भवन का नाम संविधान निर्माता डॉ अंबेडकर के नाम पर करना उपयुक्त होगा. तेलंगाना सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी एवं उद्योग मंत्री के टी रामाराव ने यह प्रस्ताव पेश किया. आपको बता दें कि संसद का शीतकालीन सत्र इस बार नए भवन में आयोजित करने की योजना बनाई जा रही है. बताया जा रहा है कि दिल्ली में सेंट्रल विस्टा के पुनर्निर्माण के तहत ने संसद भवन का निर्माण किया गया है. निर्माण कार्य फिलहाल अंतिम चरण में है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2020 में नए भवन का शिलान्यास किया था.


Find Us on Facebook

Trending News