मृत रेलवे ठेकेदार के घर पहुंचे जीतन राम मांझी, गया की लॉ एंड आर्डर को सूबे में बताया सबसे खराब, अब क्या करेंगे दोस्त नीतीश कुमार

मृत रेलवे ठेकेदार के घर पहुंचे जीतन राम मांझी, गया की लॉ एंड आर्डर को सूबे में बताया सबसे खराब, अब क्या करेंगे दोस्त नीतीश कुमार

GAYA : गया में रेलवे ठेकेदार की हत्या की घटना के बाद मृतक के परिवार से आज बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी मिलने के लिए पहुंचे। इस दौरान उन्होंने मृतक के परिवार से मुलाकात कर उन्हें ढांढस बंधाया। जिसके बाद वह बेहद नाराज नजर आए। उन्होंने गया पुलिस के काम पर सवाल उठाते कहा कि सूबे में सबसे खराब कानून व्यवस्था यहां की है। यही कारण है कि हत्या की घटना के एक सप्ताह से ज्यादा का समय गुजरने के बाद भी अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। जबकि मृतक के परिवार की तरफ से नामजद एफआईआर दर्ज कराई गई था।

बता तें गया के कोतवाली थाना क्षेत्र के बंग्लास्थान मोहल्ले में 24 अगस्त की रात हथियार बंद अपराधियो ने तबातोड़ फायरिंग कर रेलवे ठीकेदार सन्तोष कुमार यादव की हत्या कर दी गयी है। घटना उस वक्त हुआ था जब वे अपने भाई प्रफुल्ल उर्फ रिंकी के साथ घर के बाहर बैठ कर बात कर रहा था तभी बाइक सवार अपराधियो ने अंधाधुंध फायरिंग कर हत्या कर दी थी। इस मामले में मृतक के भाई के 6 लोगों के विरुद्ध नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है। 

अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं

घटना के 8 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस किसी आरोपियों को गिरफ्तार नही कर सकी है। बताया कि अब रिंकी को भी जान का डर बना है ।घटना के बाबजूद देर रात में अपराधियों के द्वारा घर के बाहर धमकी देने व घूमना जारी है।जिससे परिवार वालो को डर बना है। कहा कि अगर मेरे परिवार के साथ कोई घटना होती है तो इसके जिम्मेवार भी वही अपराधी होंगे जिन्होंने ठीकेदार सन्तोष यादव की हत्या की है।

मांझी के बयान के बाद पुलिस की बढ़ेगी परेशानी

मृतक के परिवार से मिलने के बाद जीतन राम मांझी ने कहा कि वह कल इस मामले में विस्तार के बात करेंगे। लेकिन जिस तरह से उन्होंने गया पुलिस के काम पर सवाल उठाए हैं, उसके बाद सरकार की किरकिरी होनी तय है। जीतन राम मांझी ने गया पुलिस के काम को नाकाबिल बताया है।


Find Us on Facebook

Trending News