जीतन राम मांझी के बेटे अपने बलबूते बनाएंगे बिहार में सरकार, इतना दिया समय

जीतन राम मांझी के बेटे अपने बलबूते बनाएंगे बिहार में सरकार, इतना दिया समय

पटना. हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (से०) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार सरकार में मंत्री डॉ. संतोष कुमार सुमन की अध्यक्षता में हम पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक रविवार को किशनगंज में हुई। इस बैठक में संतोष कुमार सुमन ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा अगले 15 सालों में हम अपने बलबूते बिहार में सरकार बनाएंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि पार्टी के राष्ट्रीय संरक्षक और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के निर्देश और मार्गदर्शन में पार्टी काम करेगी।

इस दौरान मंत्री डॉ. संतोष ने कहा कि इसके पहले हम पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक बिहार के सुदूर इलाके बगहा में आयोजित की गई थी । आज की यह राष्ट्रीय कार्यकारिणी की ऐतिहासिक बैठक जो किशनगंज में बुलाई गई है। इस बैठक को लेकर यहां के लोगों के बीच एक उत्साह का माहौल बना है। लोग चाहते हैं कि यहां हम पार्टी का संगठन का विस्तार हो। डॉ. संतोष ने कहा कि मजबूती और लोगों को जोड़ने के लिए पूरे बिहार की यात्रा निकालेंगे। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि लोगों की समस्याओं का निदान कर ही संगठन को मजबूत कर सकते हैं। इसके लिए हम पार्टी के कार्यकर्ताओं को और मेहनत करने की जरूरत है।

डॉ. संतोष ने कहा कि हमारे कार्यकर्ता मेहनती और ईमानदार हैं और वह मेहनत करें तो निश्चित ही 15 साल के अंदर बिहार में हम की अपने बल पर बहुमत वाली सरकार होगी। उन्होंने कहा कि संगठन में पद लेकर काम नहीं करने वालों को चिन्हित किया जा रहा है, जो काम नहीं करेंगे उनके जगह नए लोगों को पदाधिकारी बनाकर पार्टी की सेवा का मौका दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोग जुड़ने के लिए तैयार हैं। हमारी पार्टी की नीतियों और सिद्धांतों के कारण आए दिन नए-नए लोग पार्टी से जुड़ रहे हैं। पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को एक संकल्प के साथ संगठन की मजबूती को विशेष प्राथमिकता देनी होगी।

पार्टी के संरक्षक बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि हम नीतियों और सिद्धांतों में विश्वास रखते हैं। हमारी पार्टी गरीबों की पार्टी है, जिसमें किसी जाति और धर्म का कोई मतलब नहीं है।मांझी ने कहा कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार सरकार में मंत्री डॉ. संतोष कुमार सुमन के नेतृत्व में पार्टी संगठन को नई ऊर्जा मिली है। मांझी ने कहा कि हम अपने मुख्यमंत्री काल में जनहित में 34 निर्णय लिए थे, वह 34 निर्णय जनहित में थे।  उन्होंने कहा कि सरकारी नौकरी करने वालों के बच्चे सरकारी स्कूल में पढ़ेंगे तभी सरकारी विद्यालयों की शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार आएगी। इसके लिए सरकार को नियाम कानून बनाने चाहिए। 

मांझी ने कॉमन स्कूलिंग सिस्टम, निजी क्षेत्र में आरक्षण, महिला सशक्तिकरण, बेरोजगारी, अनुसूचित जाति जनजाति से जुड़ी बहुत से मुद्दे पर सवाल उठाए और फिर उन्होंने कहा कि यह तभी संभव होगा जब हम पार्टी का संगठन और मजबूत होगा। हमारे विधायकों की संख्या अच्छी खासी होगी। जिस दिन हमारे पास बड़ी संख्या में विधायक होंगे। निश्चित तौर पर हम अपनी मांगों को पूरा कराने में सफल होंगे। सफलता के लिए हमें और मेहनत करने की जरूरत है।

वहीं राष्ट्रीय प्रधान महासचिव डॉ. दानिश रिजवान ने कहा कि जब तक गरीबों का विकास नहीं होगा तब तक हमारी पार्टी का उद्देश्य पूरा नहीं होगा। हम अपने पार्टी के कार्यकर्ताओं का पूरा ख्याल रखते हैं। हमारी पार्टी की ताकत हमारा कार्यकर्ता है। उन्होंने कहा कि पार्टी में मेहनत करने वाले हर उस कार्यकर्ता को मौका दिया जाएगा जो इसके हकदार होंगे।

Find Us on Facebook

Trending News