पत्रकार सुसाइड केस : विशाल की बहन की गुहार- 'सुन लो सरकार', JDU नेत्री वंदना पैसे वाली...सेट कर दिया खगोल पुलिस को!

पत्रकार सुसाइड केस : विशाल की बहन की गुहार- 'सुन लो सरकार', JDU नेत्री वंदना पैसे वाली...सेट कर दिया खगोल पुलिस को!

पटना. खगौल में 25 वर्षीय पत्रकार विशाल सिन्हा की मौत मामले में फरार आरोपी JDU नेत्री वंदना सिंह अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। अपने आप को तेजतर्रार मानेजाने वाली खगौल पुलिस करीब 2 महीने बाद भी मुख्य आरोपी JDU नेत्री वंदना सिंह को गिरफ्तार करने में फेल साबित हो गयी। अब तो लग रहा कि खगौल पुलिस पूरे मामले को भूल ही गयी है। क्योंकि समय बीतने के साथ-साथ पुलिस की सुस्ती भी देखने को मिल रही है। लिहाजा अब परिजनों का विश्वास खगौल पुलिस से उठते जा रहा है। खगौल पुलिस अब तक छोटे बदमाशों को पकड़ कर तुर्रम खां बन रही थी, लेकिन जब बड़ा मामला आया तो सारी तेजी की हवा निकल गयी। पुलिस की नाकामी से परिजनों के ऊपर दुःख का पहाड़ टूट पड़ा है।

पुलिस के आश्वासन से परिजनों का विश्वास उठा

आखिर JDU नेत्री वंदना सिंह को कब पकड़ेगी खगोल पुलिस?...इसका जवाब पुलिस के पास नहीं है। अभी भी सिर्फ यही आश्वासन दिया जा रहा कि पुलिस लगी हुई है और जल्द ही वंदना सिंह को गिरफ्तार कर लेगी। लेकिन 2 महीने बीत जाने के बाद पुलिस के इस आश्वासन से परिजनों का विश्वास उठ सा गया है।

खगोल पुलिस पर पत्रकार के बहन का गंभीर आरोप

पत्रकार विशाल सिन्हा की बहन वैशाली सिन्हा ने खगोल पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस अफवाह फैला रही है कि JDU नेत्री वंदना सिंह बिहार से बाहर है और फरार है, लेकिन उन्होंने 15 सितंबर को खगोल इलाके में देखा है।

सभी आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं, लेकिन सूचना देने के बाद भी पुलिस नहीं पकड़ रही है। JDU नेत्री वंदना सिंह पटना में ही है और उसने खगोल पुलिस को सेट कर चुकी है! वो कुछ भी करवा सकती है। क्यों कि वंदना सिंह काफी पैसे वाली हैं। पुलिस से विशाल को न्याय नहीं मिलने की अब उम्मीद दिख रही है। हालांकि, पुलिस का दावा है कि उसने कई स्थानों पर दबिश दी, लेकिन वंदना हाथ नहीं लगी। पुलिस ने वंदना के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी कराने की बात कही थी, लेकिन पुलिस इसमें भी शिथिल हो गयी। खगौल थानाध्यक्ष फूलदेव चौधरी ने बताया कि अभी JDU नेत्री वंदना सिंह को गिरफ्तार नहीं किया जा सका है। गैर जमानती वारंट जारी कराने की प्रक्रिया अपनाई जा रही है। वो पटना से दिल्ली भाग गयी है और उसका नंबर बंद है, लेकिन पुलिस उसे बहुत जल्द ही गिरफ्तार कर लेगी।

पत्रकार के बहन ने थाने में दर्ज कराया था केस

पत्रकार विशाल की बहन वैशाली सिन्हा ने खगौल थाने में कुल तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया था। एफआईआर में जेडीयू नेत्री वंदना सिंह और उनके परिवार के लोगों पर पत्रकार विशाल को सुसाइड के लिए मजबूर करने और धोखाधड़ी करने सहित कई गंभीर आरोप है। 

क्या था पूरा मामला

विशाल का उसकी प्रेमिका जदयू नेत्री वंदना से विवाद चल रहा था। वो उसे सुसाइड के लिए उकसा रही थी। विशाल ने मेल पर सुसाइड नोट भी लिखा था। जिसे उसने अपनी बहन के वॉट्सऐप पर भी भेजा था। विशाल ने मेल पर सुसाइड नोट में लिखा था कि मुझे सुसाइड के लिए वंदना और उसके बच्चों ने उकसाया है।

वंदना बोली- मरो, न्यूज देखने के लिए बैठी हूं

वंदना ने मुझसे कहा कि मैं घर पर लाइसेंसी पिस्टल छोड़कर आई हूं। दम है तो खुदकुशी कर के दिखाओ। मैं मां के घर में टीवी के सामने बैठी हूं। सभी के साथ बैठकर तुम्हारी मौत की खबर देखूंगी। इसके बाद विशाल ने वंदना को कई फोन किए, लेकिन उसने नहीं उठाया। इसी आखिरी कॉल के बाद उसने सुसाइड नोट लिखा और खुद को गोली मारकर सुसाइड कर लिया था।

पटना से सुमित कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News