JP नड्डा की हुंकार: वैसे सारे राजनीतिक दल खत्म हो गए या हो जाएंगे, रहेगी तो सिर्फ BJP

JP नड्डा की हुंकार: वैसे सारे राजनीतिक दल खत्म हो गए या हो जाएंगे, रहेगी तो सिर्फ BJP

पटना. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने रविवार को कहा कि देश में बीजेपी से लड़ने की क्षमता किसी राष्ट्रीय दल में नहीं बची है. अब कोई राष्ट्रीय पार्टी इस स्थिति में नहीं रही जो भाजपा को मात दे सके. कांग्रेस अब राज्यो से भी उखड़ रही है. बिहार के विभिन्न जिलों में भाजपा के 16 कार्यालयों का उद्घाटन और 7 कार्यालयों का शिलान्यास करते हुए नड्डा ने ये बातें कही. जेपी नड्डा ने पटना में ऐलान कर दिया कि विचारों को त्यागने वाले राजनीतिक दलों का खात्मा हो जायेगा। रहेगी तो सिर्फ बीजेपी। 

बिहार में राजद सहित देश के अन्य क्षेत्रीय दलों पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि बिहार प्रजातंत्र की धरती है. यहां परिवारवाद के खिलाफ सिर्फ भाजपा ही लड़ सकती है. उन्होंने कहा, उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी पारिवारिक पार्टी है, बिहार में राजद से हम लड़ रहे हैं जो एक परिवार की पार्टी है. ओडिशा में नवीन बाबू की पार्टी एक व्यक्ति की पार्टी है. महाराष्ट्र में शिवसेना जो अब समाप्ति की ओर है वह भीएक परिवार की पार्टी है. इसी तरह कॉंग्रेस भाई बहन की पार्टी बन चुकी है. 

उन्होंने कहा कि भाजपा वैचारिक पृष्ठभूमि वाली राजनीतिक पार्टी है. आज अनेक लोग जो दो से तीन दशकों तक दूसरी पार्टियों में रहें, वो अपनी पार्टियां छोड़कर भाजपा में सम्मिलित हो रहे हैं. इन सभी को समझ में आ गया है कि कार्य करते हुए देश को परिवर्तित करने का उपकरण है तो वो भाजपा है. दक्षिण भारत में भाजपा के विस्तार की योजना पर नड्डा ने कहा कि विचार के आधार पर हम दक्षिण के राज्यो में भी कमल खिलाएंगे. 

बिहार के जिलों में भाजपा कार्यालयों के उद्घाटन और शिलान्यास पर उन्होंने कहा कि हमारे कार्यालय पावर जेनरेट करने के सेंटर बन गए हैं. लड़ाई कमिटमेंट से होती है, कमिटमेंट से ताकत पैदा होती है. पटना आगमन पर शनिवार को नड्डा ने अपने लिए हुए भव्य स्वागत का जिक्र करते हुए कहा कि कल की यात्रा यह बताती हैं कि भाजपा की ताकत कैसे बढ रही है. भाजपा आम जनता से जुड़ी हुई पार्टी है. बीजेपी विकास का पर्यायवाची है. उन्होंने भाजपा की बढती स्वीकार्यता का दावा करते हुए कहा कि अब एक देश में एक निशान एक विधान है.

उन्होंने कहा, हमलोग कार्यालय बोलते हैं आफिस नहीं, कार्यालय संस्कार का केंद्र होता है। कार्यालय संस्कार का जीता जागता उदाहरण है। कार्यालय आकर लोग संस्कार सीखते हैं । भाजपा अपने कार्यकर्ताओं को संस्कार सिखाती है। कार्यालय में बैठने से एक साथ काम करने का संस्कार मिलता है। कार्यालय संस्कार देने का केंद्र है। नड्डा ने कांग्रेस समेत अन्य दलों पर पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि जिनके पास विचार नहीं वे या तो समाप्त हो गए या फिर हो जाएंगे ।  उन्होंने कहा कि हम लोग वैचारिक पृष्ठभूमि के साथ खड़े हैं। अगर हमारे पास विचार नहीं होता तो हम इतनी बड़ी लड़ाई नहीं लड़ते। सब लोग मिट गए...समाप्त हो गए। जो नहीं मिटे हैं वह मिट जाएंगे । रहेगी तो सिर्फ बीजेपी रहेगी।


Find Us on Facebook

Trending News