कहानी उस बाहुबली की जिसने सीएम नीतीश के सामने चलाई थी गोलियां, तत्कालीन जदयू के अध्यक्ष ने दे दिया था क्लीन चिट

कहानी उस बाहुबली की जिसने सीएम नीतीश के सामने चलाई थी गोलियां, तत्कालीन जदयू के अध्यक्ष ने दे दिया था क्लीन चिट

Desk: साल 2012, सीएम नीतीश अधिकार यात्रा कर रहे थे. उनकी यात्रा के दौरान एक जगह एक कार्यक्रम में शिक्षकों ने अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया. ऐसे में उस समय एक नेताजी का खूब जिक्र हुआ था. नाम- रणवीर यादव. रणवीर यादव ने प्रदर्शन कर रहे शिक्षकों को डराने के लिए पहले सरेआम कार्बाइन लहराया, शिक्षक नहीं माने तो आसमानी फायरिंग तक की थी. हालांकि तब के जदयू अध्यक्ष ने इस मामले में रणवीर यादव को क्लीन चिट दे दी थी.

कौन हैं रणवीर यादव
बाहुबली रणवीर यादव पहली बार साल 1990 में निर्दलीय विधायक बने थे. इससे पहले लक्ष्मीपुर तौफीर दियारा नरसंहार में नाम सामने आने के बाद खगड़िया से पटना तक इनका नाम गूंजने लगा था. रणवीर यादव का खगड़िया और उसके आसपास के इलाकों में गहरा प्रभाव है. रणवीर यादव एक समय में लालू यादव के बेहद करीबी माने जाते थे और बाद में नीतीश कुमार से भी इन्होंने अच्छे संबंध बनाए. यही वजह है कि इनकी पत्नी को जेडीयू से दो बार विधानसभा चुनाव का टिकट मिल चुका है. साल 1985 में खगड़िया के लक्ष्मीपुर-तौफीर दियारा में भीषण नरसंहार हुआ था और इसमें 9 लोगों की हत्या हुई थी. इस मामले में रणवीर यादव को मुख्य दोषी पाया गया और उन्हें उम्रकैद की सजा मिली थी. रणवीर यादव जेल में इसकी सजा काट चुके हैं.

भाई की संपत्ति लूटने का आरोप
 
साल 2015 में संपत्ति विवाद में बाहुबली रणवीर यादव के छोटे भाई बलबीर चंद ने जिले के मानसी पुलिस थाने में FIR दर्ज कराई थी और आरोप लगाया था कि उसके बड़े भाई ने परिवारिक संपत्ति पर कब्जा कर लिया है और हिस्सा मांगने पर जान से मारने की धमकी दी है. इस मामले में बलबीर चंद ने जेडीयू विधायक पूनम यादव, पति और पूर्व विधायक रणवीर यादव, और बहन कृष्णा यादव के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी.

दो सगी बहनों से की शादी
 खगड़िया की राजनीति को नियंत्रित करने वाले बाहुबली रणवीर यादव ने दो शादियां की है. इनकी दोनों पत्नियां आपस में सगी बहने हैं और दोनों ही बिहार की राजनीति में सक्रिय हैं. उनकी पहली पत्नी पूनम यादव हैं जबकि दूसरी पत्नी कृष्णा यादव हैं जो पूनम यादव की छोटी बहन हैं.  साल 2014 में एक ही छत के नीचे दिलचस्प राजनीति देखने को मिली थी जब उनकी पहली पत्नी पूनम यादव जेडीयू की विधायक थीं और उनकी दूसरी पत्नी कृष्णा यादव आरजेडी के टिकट पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही थीं. हालांकि, कृष्णा यादव को हार का सामना करना पड़ा था.

Find Us on Facebook

Trending News